पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली, निगम बोध घाट पर हुआ अंतिम संस्कार

arun jatley dead body in bjp office

नई दिल्‍ली : पूर्व वित्त मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली रविवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। निगम बोध घाट पर उनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। जेटली के बेटे रोहन ने चिता को मुखाग्नि दी। इस दौरान उनके परिवार वाले समेत उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, गृहमंत्री अमित शाह, पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के अलावा कांग्रेस सहित अन्य दलों के नेता मौजूद थे। इससे पहले जेटली के पार्थिव शरीर को रविवार सुबह अंतिम दर्शन के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) मुख्यालय लाया गया। यहां उन्हें गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह समेत कई नेताओं ने श्रद्धांजलि दी। दोपहर करीब 2 बजकर 30 मिनट पर यमुना के किनारे निगम बोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। बता दें कि जेटली का निधन शनिवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) अस्पताल में हुआ था। जिसके बाद उनके पार्थिव शरीर को उनके परिसर पर रखा गया था, जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, अमित शाह समेत कई नेता पहुंचे।

जेटली ने 12 बजकर 7 मिनट पर अंतिम सांस ली

अरुण जेटली को धड़कन तेज होने और बेचैनी की शिकायत के बाद नौ अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया, जहां उन्हें आईसीयू में रखा गया था। एम्स के डॉक्टर जेटली की बीमारी के बारे में साफ तौर पर कुछ नहीं कह रहे थे फिर भी बताया गया कि फेफड़ो में बार- बार पानी भरने की वजह से उन्हें सांस लेने में परेशानी हो रही है। गौरतलब है ‌कि जेटली को सॉफ्ट टिशू सरकोमा हुआ था, जो एक प्रकार का कैंसर है। इसकी वजह से उनको सेहत से जुड़े समस्यों से जूझना पड़ रहा था। उन्होंने 66 वर्ष की उमर में एम्स में शनिवार को दोपहर 12 बजकर 7 मिनट पर अंतिम सांस ली।

केंद्रीय मंत्री और अन्य नेताओं ने दी श्रद्धांजलि
केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पीयूष गोयल, हर्षवर्धन, जितेंद्र सिंह और एस. जयशंकर के अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित विभिन्न नेताओं ने जेटली को अंतिम श्रद्धांजलि दी। साथ ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, सोनिया गांधी, मिलिंद देवड़ा, अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, राजीव शुक्ला, विजेंद्र गुप्ता, शाजिया इल्मी, शाहनवाज हुसैन, मनोज तिवारी, गौतम गंभीर, के अलावा केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान तथा उनके पुत्र चिराग पासवान ने भी श्रद्धांजलि दी।

बहरीन की धरती पर भावुक हुए पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को अपनी विदेश यात्रा के तीसरे चरण में बहरीन पहुंचे। जहां उन्होंने नेशनल स्‍टेडियम में भारतीय समुदाय के लोगों संबोधित करने के दौरान जेटली के निधन पर भावुक हो गए। उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आप लोगों के बीच अपने सीने में दर्द दबाए खड़ा हूं। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले बहन सुषमा चली गई और उसके बाद मेरा दोस्त अरुण चल गया। साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने अपने सबसे करीबी दोस्त को खो दिया। मैं बहरीन की धरती से दोस्त अरुण को श्रद्धांज‍ल‍ि देता हूं, साथ ही उन्होंने ईश्वर से उनके परिवार वालों के लिए दुखद घटना से उभरने की कामना की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

bengal

मालदा में पुल ढहने को लेकर भाजपा और तृणमूल ने एक-दूसरे पर साधा निशाना

मालदा : पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा ढहने की घटना को लेकर सोमवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी आगे पढ़ें »

shivsena

शिवसेना का तंज, ट्रंप के स्वागत के लिए मोदी ने शुरू की ‘गरीबी छुपाओ’ योजना

मुंबई : शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दो‌ दिवसीय भारत दौरे की तैयारियों की तुलना गुलाम हिंदुस्तान आगे पढ़ें »

ऊपर