अमित शाह का राहुल गांधी पर हमला, कहा- आपके नाना की गलती को पीएम मोदी ने सुधारा

shah

बेंगलुरु : कर्नाटक के हुबली में नागरिकता संशोधित कानून (सीएए) के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ बोलने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की भाषा बोल रहे हैं। अमित शाह ने कहा, ‘राहुल भी कहते हैं कि 370 नहीं हटना चाहिए, वहीं, इमरान खान भी कहते हैं कि यह नहीं हटना चाहिए। दोनों ही कहते हैं कि देश में सीएए लागू नहीं होना चाहिए। मैं समझ नहीं पा रहा कि कांग्रेस और पाकिस्तान के बीच आ‌खिर क्या रिश्ता है। जो गलती राहुल बाबा के नाना जी ने की थी, उसे प्रधानमंत्री मोदी जी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर सुधारने का कार्य किया है।’

शरणार्थियों में 70 प्रतिशत दलित’

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘भारत आए शरणार्थियों में 70 प्रतिशत दलित हैं। मैं उन लोगों से सवाल पूछना चाहता हूं जो सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, आखिर उन्हें इन दलितों के खिलाफ प्रदर्शन करने से क्या हासिल होगा? आजादी के बाद पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान में करीब 30 प्रतिशत हिंदू थे। लेकिन वर्तमान में पाकिस्तान और बांग्लादेश में इन हिंदुओं की संख्या घटकर महज 3 प्रतिशत ही रह गई है। क्या प्रदर्शनकारियों में से किसी के पास इसका कोई जवाब है कि पाकिस्तान में इतने अल्पसंख्यक आखिर कहां गए?’

‘भारत की शरण लेने पर मजबूर हुए पाकिस्तानी हिंदू’

उन्होंने आगे कहा, ‘पाकिस्तान में हिंदुओं को उनके धर्म के कारण प्र‌ताड़ित किया गया है। इसी कारण ह‌िंदुओं की आबादी वहां 30 प्रतिशत से घटकर केवल 3 प्रतिशत ही रह गई है। उनकी हत्या की गई या फिर जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। पाकिस्तान में मंदिर, चर्च और गुरुद्वारों को तोड़ा गया। इसी के चलते वे भारत की शरण लेने को मजबूर हुए हैं।’ इसके अलावा उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आसमान को छूता मंदिर बनवाएगी।

वाराणसी पहुंची स्मृति ईरानी

गौरतलब है कि सीएए के समर्थन में बीजेपी देशभर में जागरुकता रैली कर रही है। इसी कड़ी में जहां एक ओर कर्नाटक के हुबली में अमित शाह ने रैली को संबोधित किया तो वहीं, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने वाराणसी में सीएए के समर्थन में रैली की। बीजेपी का कहना है कि विपक्षी दलों ने सीएए को लेकर भ्रम फैलाया है और देश में दंगे कराए हैं। सीएए नागरिकता लेने का नहीं बल्कि नागरिकता देने का कानून है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अलवर में पैतृक गांव में हुआ शहीद अजीत सिंह का अंतिम संस्कार

जयपुर : सीआरपीएफ के शहीद जवान अजीत सिंह का बुधवार को अलवर जिले में स्थित उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया। अजीत सिंह 10 आगे पढ़ें »

सीएए विरोधी हिंसा में पुलिस की गोली से कोई नहीं मरा : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को दावा किया कि सीएए के खिलाफ गत 19 दिसंबर को राज्य के विभिन्न जिलों आगे पढ़ें »

ऊपर