पुलिस के बाद अब प्रदर्शन पर बैठे वकील, पेट्रोल छिड़क आत्मदाह की कोशिश

Lawyers strike

नई दिल्ली : दिल्ली की तीस हजारी अदालत के परिसर में पार्किंग को लेकर पुलिस और वकील के बीच हुई झड़प के मामले में बुधवार को दिल्ली उच्च न्यायालय में सुनवाई होनी है। इसा बीच पुलिस और वकीलों का आपसी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पहले दिल्ली पुलिस धरने पर थी और अब वकीलों ने हंगामा शुरू कर दिया है। रोहिणी कोर्ट के बाहर वकील प्रदर्शन करते हुए दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी पर उतर आए हैं। इसके साथ ही दिल्ली की सभी जिला अदालतों में वकील हड़ताल पर बैठ गए हैं और कामकाज ठप्प पड़ा है। गौरतलब है कि दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा इस मामले में बार काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी किया गया था।

वकील ने की आत्मदाह की कोशिश

इस प्रदर्शन के बीच रोहिणी कोर्ट के बाहर एक वकील ने खुदपर पेट्रोल छिड़का और आत्मदाह की कोशिश की। वकील का नाम आशीष चौधरी है। उसने कहा कि एेसा वे अपने आत्मसम्मान के लिए कर रहे हैं।

किरण बेदी ने किया ट्वीट

दिल्ली पुलिस और वकील के आपसी विवाद के बीच देश की पहली महिला आईपीएस और वर्तमान समय में पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि इस बात को नागरिक न भूलें कि अधिकार और उत्तरदायित्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। चाहे हम जो भी हों और जहां भी हों। अगर हम सभी कानून का पालन करेंगे तो कोई विवाद नहीं होगा।

मान ली गयीं पुलिस की मांगें

गौरतलब है कि मंगलवार को दिल्ली पुलिस के जवानों ने पुलिस हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन किया, जो कि सुबह 10 बजे से शुरू हुआ था। बता दें कि हड़ताल पर बैठी पुलिस को मनाने की तमाम कोशिशें की गयी थीं। सात बार पुलिस अधिकारी हड़ताली पुलिसवालों के बीच आए। ज्वाइंट सीपी, स्पेशल सीपी के साथ-साथ पुलिस कमिश्नर को खुद आना पड़ा, लेकिन पुलिस वाले तभी माने जब उनके मांगों पर मुहर लगी। पुलिस जवानों द्वारा जो मांग की गयी थी उनमें पुलिस वेलफेयर एसोसिएशन बनाने, पुलिस पर हमला हो तो फौरन कार्रवाई, पुलिसवालों का निलंबन वापस करने, दोषी वकीलों के खिलाफ केस दर्ज करने और दोषी वकीलों का लाइसेंस रद्द करने की मांग शामिल थी। इन सभी मांगों को मान लिया गया है।

उपराज्यपाल से मिले कमिश्नर

इस बीच दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक और ज्वॉइंट कमिश्नर राजेश घटना की जानकारी देने के लिए उप राज्यपाल अनिल बैजल खुराना से मिलने पहुंचे हैं। दिल्ली पुलिस के सीनियर अफसर भी उनके साथ हैं। पुलिस और वकीलों के बीच विवाद को सुलझाने के प्रयास जारी है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में वकील वरुण ठाकुर ने इस मामले में दिल्ली पुलिस कमिश्नर पटनायक को लीगल नोटिस भेजा है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि पुलिस के आला अधिकारियों ने वकीलों के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Radha Ashtami 2023: राधा अष्टमी पर अगर पहली बार रखने जा …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की अष्टमी की तिथि को बहुत ज्यादा धार्मिक महत्व माना गया है क्योंकि इस दिन भगवान आगे पढ़ें »

बिना शादी के प्रेग्नेंट हुई लड़की, मां और भाई ने जला दिया जिंदा

हापुड़: उत्तर प्रदेश के हापुड़ में आपसी विवाद में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है।  21 वर्षीय गर्भवती लड़की को उसकी मां और आगे पढ़ें »

शादी के बाद सामने आई परिणीति-राघव की हल्दी सेरेमनी से तस्वीर

World Cup 2023: वर्ल्ड कप से पहले न्यूजीलैंड को झटका, टीम के कप्तान पहले मैच से बाहर

600 करोड़ की डकैती पर बनी ‘चूना’ वेबसीरीज हुई रिलीज, जानें रिव्यू

कपड़े उतरवाए, बेल्ट से पीटा, गले में पट्टा बांध भौंकने को किया मजबूर …

Ujjain Rape Case: आरोपी का केस नहीं लड़ेंगे कोई भी वकील, बार एसोसिएशन का फैसला

Durga Puja 2023 : इस बार खास है Hazra Park Durgotsab कमेटी की थीम

FSSAI : अखबार में रखा खाना खाने से हो सकती हैं कई गंभीर बीमारियां, तुरंत बदलें ये आदत

25 करोड़ की ज्वेलरी चोरी मामले में कार्रवाई, छत्तीसगढ़ से 3 चोर गिरफ्तार

Durga Puja 2023 : अब एक क्लिक में पता चलेगा किस पूजा पंडाल में है कितनी भीड़

ऊपर