पीएम मोदी ने प्रयागराज में दिव्यांग उपकरण बांटे, चित्रकुट में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की रखी नींव

modi

प्रयागराज : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज पहुंचे। यहां उन्होंने दिव्यांग महाकुंभ में एक साथ 26,791 दिव्यांगों और बुजुर्गों को उपकरण बांटे। इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी का भला और सभी के लिए न्याय सुनिश्चित करना सरकार की जिम्मेदारी है और यही ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ का आधार है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहली की सरकारों में दिव्यांगों को बेसहारा छोड़ दिया था, लेकिन राजग सरकार दिव्यांगों और बुजुर्गों की समस्याओं पर पूरा ध्यान दे रही है।

हमारी सरकार ने आपकी समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया

यहां परेड ग्राउंड में दिव्यांगों और वरिष्ठ नागरिकों को सहायक उपकरण बांटने के बाद प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हमारी सरकार ने आपकी एक-एक समस्या के बारे में सोचा और उसे दूर करने का प्रयास किया। पहले की सरकारों के समय इस तरह के महाशिविर गिनती के लगे थे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बीते पांच साल में हमारी सरकार ने अलग अलग इलाकों में करीब 9,000 शिविर लगाए हैं जिनमें 900 करोड़ रुपये मूल्य के सहायक उपकरण बांटे गए हैं। वहीं इससे पूर्व की सरकार के कार्यकाल में 380 करोड़ रुपये से भी कम के उपकरण बांटे गए।’’

दिव्यांगों के लिए सुगम्य भारत अभियान चलाकर कई कार्य हुए

मोदी ने कहा, ‘‘हमारी सरकार ने सुगम्य भारत अभियान चलाकर सैकड़ों सरकारी इमारतों को दिव्यांगों के लिए सुगम्य बनाया। इसी तरह 700 से अधिक रेलवे स्टेशन और हवाईअड्डे दिव्यांगजन के लिए सुगम बनाए जा चुके हैं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘एक राज्य से दूसरे राज्य जाने वाले दिव्यांगों की भाषाई दिक्कतें दूर करने के लिए एक कॉमन साइन लैंग्वेज पर काम किया गया। इसके लिए सरकार ने इंडियन साइन लैंग्वेज रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना की। इससे तमिलनाडु और कश्मीर का व्यक्ति भी इस भाषा को समझ सकेंगे।’’

चित्रकूट में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का किया शिलान्यास

प्रयागराज में दिव्यांगों को उपकरण बांटने के बाद प्रधानमंत्री चित्रकुट पहुंचे। यहां उन्होंने चित्रकूट के गोंडा गांव में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया। ये एक्सप्रेस वे चार लेन का होगा, जिसका विस्तार छह लेन तक किया जा सकता है। एक्सप्रेस-वे चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, उरई और इटावा जिले से होकर गुजरते हुए आगरा एक्सप्रेस-वे से जुड़ेगा।

15 हजार करोड़ की लागत से बनेगा एक्सप्रेस-वे

बताया जा रहा कि 6 पैकेज में बनने वाले इस एक्सप्रेस-वे की लागत करीब 15 हजार करोड़ रुपए आएगी। तीन साल में ये बनकर तैयार होगा। इसके किनारे डिफेंस कॉरिडोर भी विकसित होगा। डिफेंस कॉरिडोर के लिए यूपीडा ने जमीन भी अधिग्रहीत कर ली है। इस पर चार रेल पुल, 15 बड़े पुल, 268 छोटे पुल, छह टोल प्लाजा, 18 फ्लाईओवर और 214 अंडरपास बनेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या सच में आज रात आ रहा है विजय माल्या भारत ?

नयी दिल्ली : देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये गबन कर भागे विजय माल्या के आज रात किसी भी वक्त भारत में आगे पढ़ें »

corona

बंगाल में कल से आज कुछ कम आए संक्रमण के मामले

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के मंगलवार की तुलना में आज (बुधवार) को 340 मामले आए है जबकि मंगलवार आगे पढ़ें »

ऊपर