टेरर फंडिंग केस में अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी पर एनआईए का शिकंजा, घर को किया सीज

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकवाद रोधी कानून के तहत अलगाववादी आसिया अंद्राबी के एक घर को जब्त कर लिया है। अधिकारियों ने बुधवार को इसके बारे में जानकारी दी। तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में बंद अंद्राबी की आवासीय संपत्ति आतंकवाद संबंधी निधि से खरीदी गई थी। घर को गैरकानूनी गतिविधि (निरोधक) कानून के प्रावधानों के तहत जब्त किया गया। एनआईए की इस कार्रवाई के बाद आसिया अब अपने घर को जांच पूरी होने तक बेच नहीं पाएंगी। बता दें कि उनके घर को जब्त किया गया है। लेकिन इस दौरान घर की तलाशी नहीं ली गई।
हाफिज सईद के संपर्क में होने की बात स्वीकारी
मालूम हो कि आसिया अंद्राबी ने खुद यह बात कही है कि वह पाकिस्तानी सेना के अधिकारी के माध्यम से आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के मास्टर माइंड हाफिज सईद के संपर्क में आई थी।
पूछताछ में जुटी एनआईए
आसिया ने इस बात का खुलासा किया कि वह अधिकारी दुख्तारन-ए-मिल्लत नेता अंद्राबी का संबंधी था। इसके बाद हरकत में आई एनआईए अंद्राबी के साथ ही पकड़ में आए दो अन्य अलगाववादी नेताओं से भी पूछताछ में जुट गई है।
आसिया का भतीजा पाक सेना में बड़ा अधिकारी
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चर्चा इस बात की भी है कि आसिया का भतीजा पाकिस्तानी सेना में बड़ा अधिकारी है। इसके साथ ही उसका एक अन्य रिश्तेदार भी पाकिस्तानी खुफिया विभाग आईएसआई के संपर्क में है। गौरतलब है कि आसिया 4 साल पहले अचानक पाकिस्तानी झंडा फहराने और पाक राष्ट्रगान गाने की वजह से चर्चा में आईं थी।
न्यायिक हिरासत में हैं शब्बीर और अंद्राबी
बताते चले कि दिल्ली की एक अदालत ने कश्मीरी अलगाववादी नेताओं शब्बीर शाह, मसरत आलम भट व आसिया अंद्राबी को आतंकवादियों को धन उपलब्ध करवाने के मामले में 12 जुलाई तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा है। इन नेताओं के 10 दिनों के हिरासत की अवधि समाप्त होने वाली है इसलिए एनआईए ने अदालत से इनकी न्यायिक हिरासत को बढ़ाने की मांग की है। अपनी खराब सेहत का हवाला देते हुए आसिया ने अदालत से अगली सुनवाई में वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए पेश होने का आग्रह किया है। अदालत ने बचाव पक्ष के वकील से अवकाश के बाद संबंधित अदालत से संपर्क करने को कहा।
बता दें कि शाह, भट व आसिया को आतंकवादियों को धन उपलब्ध करवाने के मामले में 4 जून को गिरफ्तार किया था। एनआईए ने मई 2017 में कश्मीर घाटी में हिंसा उत्पन्न करने के मामले में केस दर्ज किया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मां को पता नहीं ​कि शहीद हो गया है उसका लाल

कालचीनी : जम्मू - कश्मीर में हुई गोलीबारी में कालचीनी निवासी गोरखा रेजीमेंट के जवान राजीव थापा के शहीद होने की सूचना मिलते ही पूरा आगे पढ़ें »

23 किलो याबा टैबलेट के साथ 4 तस्कर गिरफ्तार

कोलकाता : मैदान थानांतर्गत सैयद बाबा मजार इलाके से 23 किलो याबा टैबलेट के साथ 4 तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। अभियुक्तों के नाम आगे पढ़ें »

ऊपर