आतंकवाद पर मोदी के प्रस्ताव का फ्रांस ने किया स्वागत

नयी दिल्ली : फ्रांस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस प्रस्ताव का स्वागत किया है जिसमें उन्होंने आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए वैश्विक सम्मेलन आयोजित किये जाने के बारे में कहा था। भारत दौरे पर आए फ्रांस के यूरोप एवं विदेश मामलों के मंत्री जीन बापटिस्ट लेमोयन ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने यह बातें बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, इंजीनियरिंग एवं डिजाइन के क्षेत्र में फ्रांस के संस्थानों में पढ़ चुके भारतीय छात्रों के साथ बातचीत से अलग हटकर कही।
जलवायु परिवर्तन की तरह वैश्विक चुनौती
लेमोयन ने कहा कि “आतंकवाद से लड़ने की हर एक पहल का स्वागत है क्योंकि यह विश्व के प्रत्येक देश के लिए खतरा है…इसलिए प्रयासों को एकजुट करने के लिए जो कुछ संभव है उसका स्वागत है।”साथ ही उन्होंने कहा कि यह (आतंकवाद) जलवायु परिवर्तन की तरह ही एक वैश्विक चुनौती है। हम इस कदम पर करीब से गौर करेंगे।”
फ्रांस भारत के साथ खड़ा है
लेमोयन ने आतंकवाद के खिलाफ जंग को शीर्ष प्राथमिकता बताते हुए कहा कि फ्रांस इस मुद्दे पर भारत के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि “मैं यह कह सकता हूं कि इस मोर्चे पर हमारे संबंध मजबूत हैं।”
सितंबर में भारत पहुंचेगा पहला राफेल विमान
फ्रांस के मंत्री ने कहा कि पहला राफेल लड़ाकू विमान सितंबर में भारत पहुंचेगा इसके बाद 36 राफेल विमानों की एक-एक कर आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह भारत-फ्रांस सहयोग का एक मजबूत संकेत होगा। राफेल सौदे पर चल रहे विवाद पर उन्होंने कहा कि “फ्रांस सरकार को विवादों से फर्क नहीं पड़ता।” उन्होंने कहा कि “हमने एक रूपरेखा तैयार की है, हम बस उसे पूरा करना चाहते हैं। यह दोनों देश के हित में है।” साथ ही यह भी कहा कि राफेल भारत के प्रभुत्व के लिए एक उपकरण है।”
दौरा मोदी की सहभागिता की तैयारी के लिए
अपने भारत दौरे के बारे में उन्होंने कहा कि “फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों और प्रधानमंत्री मोदी व्यक्तिगत स्तर पर मजबूत संबंध रखते हैं। यह दौरा अगस्त में होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी की सहभागिता की तैयारी के लिए है।” पेरिस स्थित भारतीय वायुसेना के कार्यालय में घुसपैठ के कथित प्रयास पर किए गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि “जांच जारी है। जब भी हमें नये ब्यौरे मिलेंगे, भारतीय अधिकारियों को सूचित कर दिया जाएगा।”

बता दें कि लेमोयन विदेश मंत्री एस जयशंकर, शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और भारत उद्योग परिसंघ के प्रतिनिधिमंडल से सोमवार को मुलाकात करेंगे। इसके बाद वह देर रात फ्रांस लौटेंगे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी चुनावों में जीत मिलने के बाद अपने पहले विदेश दौरे पर मालदीव गए थे। वहां की संसद से मोदी ने एक भाषण में कहा था कि “आतंकवाद सिर्फ एक देश के लिए खतरा नहीं है बल्कि समस्त सभ्यता के लिए खतरा है।” मोदी ने आतंकवाद से निपटने के लिए विश्व समुदाय का आह्वान करते हुए कहा था कि “अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने पूरी सक्रियता से जलवायु परिवर्तन के खतरे पर कई वैश्विक समझौते और कई सम्मेलन किए हैं। तो आतंकवाद के मुद्दे पर क्यों नहीं?”

शेयर करें

मुख्य समाचार

rajeev-kumar

राजीव पर शिकंजा कसने आ रहे हैं ‘स्पेशल 12’

सप्ताह भर के अंदर कार्रवाई होगी पूरी : सीबीआई सूत्र अलीपुर कोर्ट में कैविएट दायर किया राजीव कुमार ने सीबीआई जारी करा सकती है वारंट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगे पढ़ें »

मोदी से मिलीं ममता, बंगाल से जुड़े मसले पर हुई चर्चा

पीएम को बंगाल आने का दिया न्योता राज्य के नामकरण को लेकर हुई चर्चा एनआरसी के मुद्दे पर नहीं हुई बात सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नई दिल्ली : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगे पढ़ें »

ऊपर