उन्नाव रेप केस : शीर्ष न्यायालय ने दो हफ्ते के अंदर जांच पूरी करने का दिया निर्देश

supreme court

नई दिल्ली : उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुई सड़क दुर्घटना मामले में शीर्ष न्यायालय ने जल्द जांच पूरी करने का निर्देश दिया है। शुक्रवार को हुई सुनवाई में शीर्ष न्यायालय ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को आदेश दिया कि वह दो हफ्ते के अंदर केस की जांच पूरी करे। साथ ही शीर्ष न्यायालय ने निचली अदालत से कहा कि वह दिल्ली हाईकोर्ट की सलाह पर एम्स में अस्थाई अदालत बनाए, जिससे सड़क हादसे के मामले में वकील और पीड़िता का बयान दर्ज किया जा सके। हालांकि, सीबीआई ने सड़क हादसे वाली घटना में पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया है। अपने बयान में पीड़िता ने सड़क हादसे को साजिश बताया है।’

सेंगर ने मुझे मारने की रची थी साजिश

उन्नाव रेप मामले की पीड़िता की हालत अब स्थिर है और पिछले दिनों ही उसने सीबीआई के सामने अपना बयान दर्ज कराया है। अपने बयान में पीड़िता ने बीजेपी से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘कुलदीप सिंह सेंगर ने ही रायबरेली हाइवे पर हुए ऐक्सिडेंट में मुझे मारने की साजिश रची थी, इस बात पर कोई शक नहीं है।’

सीबीआई ने चार्जशीट फाइल करने के लिए मांगा समय

बता दें कि सड़क हादसे की जांच पूरी करने के लिए सीबीआई ने शीर्ष न्यायालय से और समय मांगा था। इस मामले में चार्जशीट फाइल करने के लिए शीर्ष न्यायालय ने 15 दिन का समय और दिया है। वहीं, निचली अदालत ने कहा कि 45 दिन में ट्रायल पूरा नहीं हो सकता है, इसलिए थोड़ा सा समय और मुहैया कराया जाए। लेकिन, शीर्ष न्यायालय ने निचली अदालत से कहा कि कानूनी प्रक्रिया के अनुसार ट्रायल को पूरा करें।

ट्रक से टक्कर के दौरान गंभीर रूप से घायल हुई थी पीड़िता

दरअसल, 28 जुलाई को उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एक ट्रक ने पीड़िता की कार को जोरदार टक्कर मार दी थी, जिसमें उसकी चाची और मौसी की घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई थी। जबकि, इस दुर्घटना में पीड़िता और उनके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे। पीड़िता के चाचा ने सड़क दुर्घटना में सेंगर के करीबियों का हाथ होने का आरोप लगाया है। बता दें कि उन्नाव की रहने वाली पीड़िता का आरोप है कि उत्तर प्रदेश के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने साल 2017 में उनके साथ बलात्कार किया था। उस समय वह (पीड़‍िता) नाबालिग थीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जेयू मामले में प्रशासन पूरी तरह से फेल था – राज्यपाल

वीसी ने अपने कर्तव्य नहीं निभाये ‘जो भी किया संविधान के दायरे में किया’ जाने से पहले सीएम से कई बार हुई थी बात सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जादवपुर आगे पढ़ें »

राजीव को पकड़ने के लिए बंगाल से यूपी तक छापे

राजीव कहां हैं सीबीआई ने पूछा पत्नी से टारगेट पूरा करने के लिए बनाया गया स्पेशल कंट्रोल रूम सीबीआई का अनुमान - जगह बदल-बदल कर रह रहे हैं आगे पढ़ें »

ऊपर