उद्वव ठाकरे : मोदी सरकार राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए कानून

Uddhav Thackaray

मुबंई :शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने विजयादशमी पर अपने पारंपरिक रैली के दौरान कहा कि माेदी सरकार के समक्ष अयोध्या में राम मंदिर के लिए सशक्त कानून बनाने की जरूरत है। कानून की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह को देश में यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू कर देना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा के साथ अपने फैसले को सही भी ठहराया। शिवाजी पार्क में शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली में अपने 35 मिनट के लंबे भाषण में ठाकरे ने सरकार द्वारा कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद ‌कई जगहों पर चल रहे विरोध प्रदर्शन के मुद्दे पर भी बात की। उन्हाेंने कहा कि हम कश्मीर मामले में मोदी सरकार का पूर्ण रुप से समर्थन करते है।

राम के नाम पर नहीं करेंगे राजनीति

दशहरा रैली में ठाकरे ने कहा कि शिवसेना राजनीतिक लाभ के लिए राम मंदिर के विषय पर चर्चा नहीं करती है। हमारी पार्टी ने इस मुद्दे पर हमेशा अपनी आवाज बुलंद की है और हमारी यह कोशिश इसके निर्माण तक रहेगी। हम कभी भी राम के नाम पर राजनीति नहीं करेंगे। हम अपने प्राण गंवा देंगे पर अपने वादे से कभी नहीं मुकरेंगे। उन्होंने कहा कि यह संवेदनशील मामला चुनावी लाभों से ऊपर है। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राम मंदिर मामले में न बोलने की सलाह देते हुए कहा है कि अब इसका फैसला उच्चतम न्यायलय करेगी। हम आशा करते है ‌कि इस महीने तक अदालत अपना निर्णय सुना देगी। लेकिन हमारी पार्टी की मांग है कि राम मंदिर के लिए अलग से कानून बनाया जाए। उन्हाेंने कहा कि शिवसेना केवल छत्रपति शिवाजी महाराज और मराठी लोगों के आगे ही झुकती है।

विरोधी दलों पर कसा तंज

ठाकरे ने विरोधी दलों पर तंज कसते हुए लोगो से सवाल पूछा कि क्या आप सभी को लगता है कि मायावती,शरद पवार या दूसरा कोई भी नेता देश चलाने में सक्षम हैं? इसी कारण से हमारी पार्टी केंद्र और राज्य में बीजेपी के साथ गठबंधन में शामिल हुई है। हम सभी को सपा और बसपा के बीच हुई गठबंधन की स्थिति के बारे में पता ही है। ठाकरे ने शरद के भजीते अजित पवार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि पिछले दिनों वह प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोने लगे थे। मैंने पहली बार घड़ियाल के आंसू देखे हैं। पवार अपने राजनीति में शामिल रहे पर हम इसे बढ़ावा नहीं देंगे। उन्होंने महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना के मजबूत गठबंधन का दिलासा भी दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारत बॉन्ड ईटीएफ का पहला इश्यू जारी, बेहद कम जोखिम के साथ कर सकते हैं निवेश

नई दिल्ली : भारत बॉन्ड ईटीएफ का पहला इश्यू 12 दिसंबर को लॉन्च होने जा रहा है और यह छोटे रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए निवेश आगे पढ़ें »

महानगर में डेंगू व मलेरिया से दो की मौत

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : कोलकाता नगर निगम जहां दावा कर रहा है कि महानगर में मच्छर जनित बीमारियां कम होती जा रही हैं। वहीं लोगों के आगे पढ़ें »

ऊपर