फर्जी कागजात बनवाकर पांच साल से रह रही थी बांग्लादेशी महिला

जमशेदपुर : फर्जी पहचान पत्र बनवाकर गुपचुप तरीके से जमशेदपुर में रह रही बांग्लादेशी महिला को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। यहां पांच साल से रहने वाली महिला का नाम राबिया बसरी है। वह पांच साल पहले बांग्लादेश से जमशेदपुर पहुंची और यहां रहने लगी। यहां के युवक से शादी रचाई, बाल-बच्चे भी हुए। किसी को दूर-दूर तक भनक नहीं कि वह बांग्लादेश की रहनेवाली है। उसके पास भारत का मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट सबकुछ था। लेकिन उसके बांग्लादेशी होने का भेद खुला तो पुलिस गिरफ्तारी के लिए दौड़ी। हालांकि, वह इतनी तेज निकली कि पुलिस के पहुंचने से पहले ही पति और बच्चों संग गायब हो गई। तथ्य सामने आए हैं कि राबिया बसरी 2014 से मानगो के राजमहल अपार्टमेंट में फ्लैट बदल कर रह रही थी। जैसा कि पड़ोस के लोगों ने पुलिस को बताया वह पहले अकेले रहती थी। बाद में शाहीन महमूद के साथ शादी कर फ्लैट नंबर 504 में रहने लगी। यह फ्लैट ओल्ड पुरूलिया रोड निवासी अरशद परवेज के नाम से है। इसी बीच वह एक व्यक्ति की मदद से उसने फर्जी तरीके से वोटर आइ कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड बनवा लिया। इसके बाद फर्जी दस्तावेज के माध्यम से बनाए गए कार्ड से पासपोर्ट भी हासिल कर लिया।
पासपोर्ट बनवाने से खुला भेद
हालांकि, पासपोर्ट बनवाना ही उसके लिए मुसीबत का सबब बन गया। जब वेरीफिकेशन के लिए पुलिस 18 अगस्त 2018 को जांच करने पहुंची तब वह राजमहल अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 501 में रह रही थी। पासपोर्ट बनने के बाद उसकी खुफिया जांच चल रही थी। इसी बीच विशेष शाखा के पुलिस अधीक्षक का पत्र जमशेदपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक को दिया गया कि जमशेदपुर में रह रही राबिया बसरी नामक महिला बांग्लादेशी है और उसने अवैध तरीके से विभिन्न कार्ड हासिल कर लिया है। क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी रांची ने भी महिला का पासपोर्ट फर्जी दस्तावेजों की मदद से बनाने की बात कही। इसके बाद जमशेदपुर पुलिस हरकत में आई, लेकिन उससे पहले ही महिला अपने परिवार के साथ फरार हो गई।
गिरफ्तारी के निर्देश
अब पुलिस यह पता लगाने में जुटी है कि महिला कैसे आई, उसका जमशेदपुर कनेक्शन क्या है? विशेष शाखा से सूचना मिलते ही जमशेदपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक अनूप बिरथरे ने मानगो इंस्पेक्टर अरुण कुमार महथा को जांच कर आरोपित को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था। महिला के फरार हो जाने के बाद मानगो थाना प्रभारी अरुण महथा के बयान पर आरोपित महिला राबिया बसरी, पति शाहीन महमूद तथा एक अन्य व्यक्ति जिसने फर्जी दस्तावेज बनाने में मदद की थी, उसके खिलाफ थाने में मामला दर्ज कराया गया है। थाने में मामला दर्ज होने के बाद इसे आवश्यक कार्रवाई के लिए मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में मामला दायर कर दिया गया है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

बाबुल के विवादित गाने पर थिरके दिलीप व भाजपा कर्मी

भाजपा के महिला मोर्चा सम्मेलन की ओर से आयोजित हुई थी सभा खड़गपुर : चुनाव प्रचार के लिये भाजपा के पूर्व सांसद बाबुल सुप्रियो ने एक गाना गाया जिसे लेकर विर्तक शुरू हो गया है। मामला एफआईआर तक पहुंच [Read more...]

झाड़ग्राम के तृणमूल प्रार्थी को लेकर आदिवासियों में बढ़ रही नाराजगी

भाजपा आदिवासियों की नाराजगी को भुनाने की कर रही कोशिश झाड़ग्राम : आदिवासी जनबहुल झाड़ग्राम लोकसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से पेशे से शिक्षिका बीराबाहा सोरेन को चुनावी मैदान में उतारा गया है। उनके पति रविन [Read more...]

मुख्य समाचार

बाबुल के विवादित गाने पर थिरके दिलीप व भाजपा कर्मी

भाजपा के महिला मोर्चा सम्मेलन की ओर से आयोजित हुई थी सभा खड़गपुर : चुनाव प्रचार के लिये भाजपा के पूर्व सांसद बाबुल सुप्रियो ने एक गाना गाया जिसे लेकर विर्तक शुरू हो गया है। मामला एफआईआर तक पहुंच [Read more...]

झाड़ग्राम के तृणमूल प्रार्थी को लेकर आदिवासियों में बढ़ रही नाराजगी

भाजपा आदिवासियों की नाराजगी को भुनाने की कर रही कोशिश झाड़ग्राम : आदिवासी जनबहुल झाड़ग्राम लोकसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से पेशे से शिक्षिका बीराबाहा सोरेन को चुनावी मैदान में उतारा गया है। उनके पति रविन [Read more...]

ऊपर