सपा-बसपा गठबंधन का ऐलान कल

लखनऊ : लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी मिलकर चुनाव लड़ेंगे। दोनों ही पार्टियों के बीच सैद्धांतिक समझौता हो चुका है। अब केवल इसका औपचारिक ऐलान किया जाना बाकी है। सूत्रों की माने तो सपा और बसपा के गठबंधन का औपचारिक ऐलान शनिवार को हो सकता है। मालूम हो कि एसपी-बीएसपी के गठबंधन को लेकर लंबे वक्त से चर्चा चल रही थी। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तैयार हो चुका है। इसका सिर्फ औपचारिक ऐलान किया जाना बाकी है। जो फॉर्मूला तैयार हुआ है उसके मुताबिक समाजवादी पार्टी-37 सीट, बहुजन समाज पार्टी- 37 सीट, राष्ट्रीय लोकदल-3 और क्षेत्रीय निषाद पार्टी को 1 सीट। मालूम हो कि बीते शुक्रवार को राजधानी दिल्ली में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की थी। मायावती और अखिलेश यादव की मुलाकात करीब डेढ़ घंटे तक चली थी। इसी मुलाकात में गठबंधन के फॉर्मूले पर अंतिम मुहर लगी थी। जानकारी के मुताबिक लखनऊ के गोमती नगर में स्थित होटल ताज में अखिलेश यादव और मायावती शनिवार को दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। हालांकि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीट बंटवारे का ऐलान होगा या नहीं, इसे लेकर अभी कोई खबर नहीं है।

यूपी की 80 लोकसभा सीटों के लिए सपा-बसपा का फॉर्मूला
सूत्रों के हवाले से खबर है कि दोनों पार्टियों ने फिलहाल यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से 76 पर महागठबंधन के तहत साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया है। बाकी बची 4 सीटों को लेकर खबर है कि इनमें से दो सीटें अमेठी और रायबरेली कांग्रेस के लिए छोड़ी जा सकती हैं, जबकि दो सीटों पर फैसला होना अभी बाकी है। एक अहम खबर यह भी है कि समाजवादी पार्टी को मिली 37 सीटों में से ही अखिलेश यादव निषाद पार्टी और पीस पार्टी को भी सीटें देंगे। गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में अखिलेश को इन दोनों पार्टियों का साथ मिला था। गोरखपुर में तो निषाद पार्टी प्रमुख के बेटे को ही सपा के टिकट पर लड़ाया गया था।

मुलायम गठबंधन पर पहले ही लगा चुके है मुहर
मालूम हो कि बीते मंगलवार को किशनी के ग्राम चांदा में आयोजित जनसभा में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने सपा और बसपा के प्रस्तावित गठबंधन पर मुहर लगा दी। मुलायम ने कहा कि सपा और बसपा से कोई मुकाबला नहीं कर सकता। सपा और बसपा मिलकर चुनाव लड़ें तो देश की राजनीति बदल जाएगी। उन्होंने मैनपुरी में सपा को जिताने के लिए लोगों का आभार ही व्यक्त नहीं किया बल्कि ये भी कहा कि मैनपुरी में हर वर्ग के लोग मुलायम को जिताते हैं। उन्होंने कहा कि सपा किसानों, व्यापारियों और युवाओं को लेकर चलती है। सपा की नीतियां देश में सबसे अच्छी हैं। सपा जो कहती है, वही करती है। गठबंधन की कोशिश अच्छी है। दोनों एक होने से लोकसभा चुनाव में कोई नहीं हरा पाएगा। उन्होंने जनसभा में बसपा के लोगों का धन्यवाद दिया और कहा कि इस पहल को आगे भी जारी रखा जाएगा।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

पसंद करें या ना, चीन में बने सामानों का इस्तेमाल करना ही होगा : चीनी मीडिया

नयी दिल्ली : पुलवामा अटैक के बाद भारत व पाकिस्‍तान के संबंधो में आई तनाव तथा पाकिस्‍तान के मित्र चीन द्वारा आतंकी मसूद अजहर के मसले पर अड़चन लगाये जाने के बाद भारत में चीन के प्रति बढ़ती नाराजगी तथा [Read more...]

दलाई लामा का बड़ा बयान, कहा – मेरी मृत्यु के बाद भारत से ही हो सकता है मेरा उत्तराधिकारी

धर्मशाला : नोबेल पुरस्‍कार से सम्‍मानित तथा निर्वासन में रह रहे तिब्बती र्धमगुरु दलाई लामा का कहना है कि उनका उत्तराधिकारी भारत से हो सकता है। तिब्बती र्धमगुरु ने सोमवार को कहा कि उन्होंने अपनी आयु के 60 साल भारत [Read more...]

मुख्य समाचार

पसंद करें या ना, चीन में बने सामानों का इस्तेमाल करना ही होगा : चीनी मीडिया

नयी दिल्ली : पुलवामा अटैक के बाद भारत व पाकिस्‍तान के संबंधो में आई तनाव तथा पाकिस्‍तान के मित्र चीन द्वारा आतंकी मसूद अजहर के मसले पर अड़चन लगाये जाने के बाद भारत में चीन के प्रति बढ़ती नाराजगी तथा [Read more...]

शाओमी ने 4999 रुपये में लॉन्च किया स्मार्ट फीचर्स के साथ रेडमी गो

नई दिल्ली : चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी शाओमी ने अपना बजट स्मार्टफोन रेडमी गो लॉन्च कर दिया है, इसकी कीमत है मात्र 4999 रुपये. यह फोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 425 चिप से लैस है और रेडमी गो एक जीबी हैम के [Read more...]

ऊपर