देशभर में बंटवारे की राजनीति कर रही है भाजपा : ममता

कोटशिला (पुरुलिया) : भाजपा देश में बंटवारे की राजनीति कर रही है। यह गणतंत्र के लिए घातक है। हमारे यहां हर वर्ग और राज्य के लोगों का स्वागत है। ये बातें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुरुलिया के कोटशिला में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए राजस्थान में घटी घटना को केंद्र करते हुए कही। उन्होंने कहा कि राजस्थान या ​बिहार से आने वाले लोग बंगाल को ही अपना दूसरा घर समझते है क्योंकि यहां उन्हें घर जैसा अपनापन महसूस होता है। इसके विपरीत राजस्थान में बंगाल से जाने वाले व्यक्ति की बेरहमी से हत्या कर दी जा रही है। यह क्या है? बंगाल के साथ ऐसा बर्ताव बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। देश के अलग-अलग राज्यों में बंगाल से जाने वाले लोग अगर वहां खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं तो वे घर वापसी कर सकते हैं। बंगाल में काम की कमी नहीं है। पश्चिम बंगाल सरकार लौटने वालों की आर्थिक मदद करेगी। सीएम ने आश्वासन देते हुए कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति अन्य प्रदेशों में खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है तो वह बंगाल अपने घर लौट सकता है। यहां प्रशासन उसे आर्थिक सहायोग करने के लिए तैयार है।

चाय की दुकान खोलने के लिए मिलेगा 50 हजार रुपये

सीएम ने कहा कि राज्य में लौटने वाला व्यक्ति अपने जिले के डीएम के पास जाकर अपना नाम दर्ज कराये। उसे प्रशासन की ओर से 50 हजार रुपये करके सहायता राशि दी जाएगी। इस राशि से वह कम से कम चाय की दुकान खोल सकता है जो आगे चलकर रोजगार में मददगार साबित होगा।

शुरू होगी 200 दिन रोजगार योजना

सीएम ने सभी डीएम को निर्देश दिया है कि वह अन्य राज्यों से लौटने वाले व्यक्ति की तालिका तैयार करे। इन लोगों को 100 दिन रोजगार योजना के तहत नौकरी दी जाएगी। सीएम ने कहा कि इस तालिका के आधार पर देखा जाएगा कि 100 दिन रोजगार योजना में सभी लोगों को लिया जा सकता है कि नहीं। अगर ऐसा नहीं हो पा रहा है तो 100 दिन रोजगार को 200 दिन रोजगार में बदला जाएगा।

भाजपा कर रही है बंटवारे की राजनीति

सीएम ने एक बार फिर भाजपा पर आरोप मढ़ते हुए कहा कि पूरे देश में भाजपा बंटवारे की राजनीति कर रही है जिसका फायदा उन्हीं के नेता उठा रहे हैं। देश के जिस भी राज्य में भाजपा की सत्ता हैं वहां इसी तर्ज पर उनका शासन चल रहा है। बंगाल उसमें से एक है। यहां भाजपा नेताओं का एक वर्ग हैं जो बंगाल में मिथ्याचार फैला कर यहां की शांति भंग करने पर तुला हुआ है। राजस्थान में अल्पसंख्यकों पर तो गुजरात में दलितों पर सरेआम अत्याचार हो रहा है।

अब यहां नहीं हैं माओवादी

पुरुलिया की बात करें तो 6 साल पहले तक यहां माओवादी खूनी खेल खेलते थे आज यहां शांति है। तृणमूल सरकार ने इसे बंगाल का ऐसा जिला बना दिया है जो पर्यटन के नजरिये से सभी की पहली पसंद है। जाति कोई भी धर्म कुछ भी हो हमारी सरकार की प्राथमिकता विकास है जो हम करते आ रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सिद्धू के समर्थन में उतरे कपिल शर्मा

नई दिल्लीः पुलवामा हमले पर दिए गए बयान के बाद नवजोत सिंह सिद्धू को जमकर किए जा रहे विरोध का सामना करना पड़ रहा है। जहां एक ओर उन्हें कॉमेडी शो द कपिल शर्मा शो  से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया, वहीं [Read more...]

बड़ा फैसलाः बिहार में पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब नहीं मिलेगा सरकारी आवास

पटनाः पटना हाईकोर्ट ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन मिलने वाली सरकारी आवास की सुविधा समाप्त कर दी है। चीफ जस्टिस ए पी शाही की खंडपीठ ने मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रखा था, [Read more...]

रिहर्सल के दौरान दो सूर्य किरण आपस में टकराए, पायलट सुरक्षित

बड़ा खुलासाः पुलवामा हमले में अंगीठी के कोयले में छिपाकर लाया ला रहा था आरडीएक्स

प्रियंका गांधी ने शहीद की बेटी से कहा-‘डॉक्टर बनने का सपना पूरा करने में हर मदद करूंगी’

शूटिंग विश्व कप में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद : अपूर्वी चंडेला

भारत के बाद अब पाकिस्तान ने भी अपने उच्चायुक्त को वापस बुलाया

अभ्यास मैच में हारी भारतीय महिला बोर्ड अध्यक्ष एकादश की टीम

पुलवामा अटैक : मास्‍टरमाइंड गांजी को खात्‍मा करने में शहीद जाबांज के पिता ने कहा, बेटे पर गर्व है

इस तंत्र के आने के बाद भारत के सीमा क्षेत्र में नहीं घुस पाएंगे घुसपैठिए, अभी 6-7 साल का लगेगा और समय

मुख्य समाचार

सिद्धू के समर्थन में उतरे कपिल शर्मा

नई दिल्लीः पुलवामा हमले पर दिए गए बयान के बाद नवजोत सिंह सिद्धू को जमकर किए जा रहे विरोध का सामना करना पड़ रहा है। जहां एक ओर उन्हें कॉमेडी शो द कपिल शर्मा शो  से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया, वहीं [Read more...]

बड़ा फैसलाः बिहार में पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब नहीं मिलेगा सरकारी आवास

पटनाः पटना हाईकोर्ट ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन मिलने वाली सरकारी आवास की सुविधा समाप्त कर दी है। चीफ जस्टिस ए पी शाही की खंडपीठ ने मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रखा था, [Read more...]

ऊपर