देश की सभी ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों में हड़ताल

ordinence factory strike

जबलपुर :

केंद्र सरकार द्वारा देश के सभी रक्षा संस्थानों के निगमीकरण किए जाने के विरोध में देशभर की 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के करीब 83,000 कर्मचारी मंगलवार से हड़ताल पर चले गए। इनका आरोप है कि सरकार एक तरफ सेना को मजबूत करने के दावे कर रही है और दूसरी तरफ सुरक्षा संस्थानों को निजी हाथों में सौंपने की साजिश रच रही है। उनका कहना है कि जब तक सरकार इस आदेश को वापस नहीं लेती है तब तक हड़ताल और विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। फिलहाल यह हड़ताल 1 माह चलेगी।

सरकार को कई बार ध्यान दिलाया गया

बता दें कि केंद्र सरकार ने देश की 41 आयुध बनाने वाली संस्थाओं को निगमीकरण के दायरे में लाने का प्रस्ताव पास किया है। इस बाबत सरकार को कई बार इस ओर ध्यान दिलाने की कोशिश की थी, लेकिन जब सुनवाई नहीं हुई तो कर्मचारियों ने देशव्यापी हड़ताल का ऐलान कर दिया। जिससे जबलपुर आर्डिनेंस फैक्ट्री के साथ अन्य सुरक्षा संस्थानों में भी ताले लटक गए।

देश की सुरक्षा के लिए घातक

गौरतलब है कि आजादी के बाद यह पहला मौका है जब देश के सभी सुरक्षा संस्थानों में एक महीने तक कामकाज ठप होगा। आर्डिनेंस फैक्ट्री के कर्मचारियों ने इस बात पर हैरानी जताई कि केंद्र सरकार एक तरफ तो सेना को मजबूत करने के दावे कर रही है और दूसरी तरफ सुरक्षा संस्थानों को निजी हाथों में सौंपने की तैयारी कर रही है। सरकार के इस फैसले से आक्रोशित कर्मचारियों ने इसे देश की सुरक्षा के लिए घातक बताया।

कई संगठनों है शामिल

जबलपुर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में 23,000 कर्मचारी हैं। देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत जबलपुर में व्हीकल फैक्ट्री,गन कैरिज फैक्ट्री जीसीएफ, ग्रे आयरन फाउंड्री जीआईएफ, आयुध निर्माणी खमरिया ओएफके में कार्यरत हजारों कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू कर दी है। कर्मचारी संगठन ऑल इंडिया डिफेंस एम्पलाइज फेडरेशन, भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ और इंडियन नेशनल डिफेंस वर्कर्स फेडरेशन से संबंधित सभी यूनियनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के साथ-साथ कर्मचारी भी हड़ताल के विरोध में सुबह से नारेबाजी कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर