सोनी राजदान ने अफजल गुरु की फांसी पर उठाए सवाल, बताया बलि का बकरा

soni razdan

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट की मां और फिल्मकार महेश भट्ट की पत्नि सोनी राजदान ने ट्वीट के जरिए अफजल गुरु की फांसी को लेकर सवाल उठाते हुए उसे बलि का बकरा बताया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘कोई नहीं कह रहा कि वह (अफजल गुरु) बेगुनाह है। लेकिन अगर उस पर अत्याचार किया गया है और अत्याचारी द्वारा उसे वह करने पर मजबूर किया गया हो जो उसने किया तो क्या इसकी पूरी तरह से जांच नहीं होनी चाह‌िए थी? उसके द्वारा देविंदर सिंह पर लगाए गए आरोपों को गंभीरता से क्यों नहीं लिया गया? यह उपहासात्मक है।’ बता दें कि 9 फरवरी 2013 में अफजल गुरु को फांसी दे दी गई थी। 2011 में देश की संसद पर हुए आतंकी हमले के लिए उसे दोषी ठहराया गया था। अफजल ने तिहाड़ जेल से अपने वकील को एक पत्र ‌लिखा था जिसमें उसने हाल ही में कश्मीर से आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए डीएसपी देविंदर स‌िंह को लेकर कई खुलासे किए थे।

अफजल की पत्नी ने देविंदर पर लगाया रिश्वत का आरोप

उधर, पिछले दिनों अफजल गुरु की पत्नी तबस्सुम ने देविंदर सिंह पर रिश्वत मांगने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था‌ कि अफजल गुरु की रिहाई के बदले देविंदर ने एक लाख रुपये की मांग की थी। इन वजहों से सोशल मीडिया पर अफजल की फांसी का मामला एक बार फिर से उछाला जा रहा है। इसी कड़ी में सोनी राजदान ने मंगलवार को ट्वीट किया है जिसपर कई लोग अपनी प्रतिक्रिया जाहिर कर रहे हैं। उन्होंने लिखा, ”यह न्याय का द्रोह है। अगर वह शख्स बेगुनाह है तो अब मार दिए जाने के बाद कौन उसे वापस ला सकता है। इसी वजह से मौत की सजा के इस्तेमाल को हल्के में नहीं लिया जाना चाह‌िए। इसके साथ ही इस बात की भी गंभीरता से जांच की जानी चाहिए कि क्यों अफजल गुरु को बलि का बकरा बनाया गया।”

संसद पर आतंकी हमले का मास्टर माइंड था अफजल

उल्लेखनीय है कि डीएसपी देविंदर सिंह को हिजबुल कमांडर नवीब बाबू समेत तीन आतंकियों के साथ कश्मीर से गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद सोमवार को जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने निलंबित पुलिस उपाधीक्षक देविंदर सिंह से डीजीपी का प्रशस्ति पदक और प्रशस्ति पत्र जब्त कर लिया। उनसे एनआईए द्वारा पूछताछ की जा रही है। मालूम हो कि संसद हमले के मुख्य आरोपी अफजल गुरु को 9 फरवरी 2013 में दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल में फांसी दी गई ‌थी। पुलिस के अनुसार जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी अफजल गुरु इस पूरी घटना का मास्टर मांइड था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर