उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से छह की मौत,मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

drinking poisonous liquor in Uttarakhand

देहरादून : उत्तराखंड के देहरादून में शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत हो गई और कई अस्पताल में भर्ती हैं। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि शराब पीने के बाद कई लोगों की तबीयत खराब होने की घटना शुक्रवार के दिन आई। साथ ही उन्होंने बताया कि इस मामले में राज्य आबकारी विभाग ने तीन अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। वहीं राज्य सरकार ने इस मामले में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं।

आबकारी विभाग और कोतवाली थाना जांच में जुटी

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के मुताबिक इस मामले की जांच आबकारी विभाग के साथ-साथ पुलिस थाना कोतवाली कर रही है। इस मामले में क्षेत्रीय निरीक्षक सुजात हसन, निरीक्षक सतर्कता मनोहर फर्त्याल, उप निरीक्षक मनोज भट्ट को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही उन्होंने बताया कि जिला अधिकारी ने इलाके के सभी देशी शराब के ठेके को बंद करने के निर्देश दिए हैं।

अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी

बता दें कि जहरीली शराब पीने से मारे गए लोग देहरादून और उसके आसपास के इलाकों के हैं, लेकिन पुलिस की ओर से इस मामले में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस घटना के बाद स्‍थानीय लोगों ने क्षेत्र के विधायक के परिसर का घेराव किया। उन्होंने आरोप लगाया कि बाहरी लोगों ने आकर मिलावटी शराब पीने को दी, जिसके कारण यह घटना हुई। उल्लेखनीय है कि हाल ही में टिहरी के एक गांव में इसी प्रकार की घटना सामने आई थी, यहां मिलावटी शराब पीने से दो लोगों की मौत हुई थी। इससे पहले हरिद्वार में 40 से ज्यादा लोगों की मौत जहरीली शराब के सेवन से हुई थी। मामले की जांच में पाया गया था कि शराब में मिथेलॉन मिला हुआ था। बाद में उस मामले में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में कई लोग गिरफ्तार किए गए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दीपवाली पर नकली मिठाइयों से रहें सावधान, स्वास्थ हो सकता है खराब

नई दिल्ली : त्योहारों पर मिठाइयां ना हो तो त्योहारों का मजा नहीं आता। दीपावली जैसे जैसे करीब आ रही है, बाजार में मिलावटी छेना आगे पढ़ें »

आईएमएफ ने कहा, कॉरपोरेट टैक्स में कटौती स्वागत योग्य फैसला, बढ़ेगा निवेश

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के भारत के फैसले की तारीफ करते हुए कहा है कि यह स्वागत आगे पढ़ें »

ऊपर