केजरीवाल को लेकर दिए बयान पर विवाद के बाद शशि थरूर ने मांगी माफी

tharoor

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान होने के बाद से सियासी बयानबाजी तेज होती जा रही है। इस कड़ी में कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था जिसके बाद उन्होंने माफी मांगी है। बीते दिनों मुख्यमंत्री केजरीवाल को ‘बगैर जिम्मेदारी की सत्ता’ चाहने वाला बताने पर थरूर ने माफी मांगी है। हालांकि, जिस किन्नर शब्द को लेकर विवाद शुरू हुआ था उसपर थरूर ने कुछ नहीं कहा है।

कांग्रेस की बैठक में नहीं शामिल हुई ‘आप’

मीडिया को दिए साक्षात्कार में शशि थरूर ने दिल्ली विधानसभा चुनाव और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर अरविंद केजरीवाल के बर्ताव पर बात की। उन्होंने कहा कि सीएए के खिलाफ केजरीवाल का रुख मजबूत नहीं है। इसकी वजह यह है कि वे सीएए के समर्थकों और व‌िरोधियों दोनाें को अपनी ओर करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल केंद्र सरकार की नागरिकता नीत‌ि पर विरोध जताने के बावजूद केजरीवाल कोई ठोस कदम उठाते नहीं दिख रहे हैं क्योंकि वे दोनों तरफ रहना चाहते हैं। बता दें कि सोमवार को सीएए के खिलाफ कांग्रेस के नेतृत्व में हुई विपक्षी दलों की बैठक से आम आदमी पार्टी किनारा करती नजर आई थी।

किन्नरों का विशेषाधिकार रहा बिना जिम्मेदारी के सत्ता

शशि थरूर ने कहा था, “मुख्यमंत्री होने के नाते केजरीवाल को दिल्ली की हिंसा से पीड़ित जनता को जो सामान्य मानवीय संवेदना दिखानी चाह‌िए थी वह भी नहीं दिखाई।” आगे उन्होंने कहा, ” सच तो यह है कि केजरीवाल बिना जिम्मेदारी के सत्ता चाहते हैं, हम सभी इस बात से परिचित हैं कि यह सदियों से किन्नरों का विशेषाधिकार रहा है, और कोई मजबूत कदम न उठाने वाला रवैया केजरीवाल की मुख्यमंत्री की जगह को सुरक्षित रखेगा। मैं यही कहूंगा कि आप अपना पूरा राजनीतिक करियर इस प्रयास में ही समाप्त कर सकते हैं कि कोई भी आपका शत्रु न बने लेकिन तब आप किस मुद्दे पर आखिरकार खड़े हो पाएंगे?”

अंग्रेजी कहावत का हवाला देते हुए मांगी माफी

कांग्रेस सांसद के इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों की कड़ी प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई। ट‌्विटर पर कई लोग उन्हें ताने और उलाहने देते नजर आए। इस हंगामें के कुछ ही घंटों में शशि थरूर ने अपने बयान पर माफी मांगी। शशि थरूर ने अंग्रेजी कहावत का तर्क देते हुए कहा, “जिन लोगों को ‘बैगर जिम्मेदारी के सत्ता’ वाला मेरा बयान आपत्तिजनक लगा हैं मैं उनसे माफी मांगता हूं। यह ब्रिटेन की राजनीति से लिया गया एक पुराना वाक्य है जो कि किपलिंग और प्रधानमंत्री स्टैनले बाल्डविन से संबंधित है। हाल ही में टॉम स्टॉपर्ड ने भी इस वाक्य का इस्तेमाल किया था। आज मुझे यह अहसास हुआ है कि इसका इस्तेमाल उचित नहीं था, मैं इसे वापस लेता हूं।” हालांकि, जिस किन्नर शब्द को लेकर विवाद खड़ा हुआ था उसे लेकर थरूर ने कुछ नहीं कहा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर