शरद पवार ने दिया विवादित बयान, कहा पुलवामा जैसी घटना महाराष्ट्र में हवा बदल सकती है

sharad pawar

औरंगाबाद : अपने विवादित बयानों के चलते इनदिनों चर्चा में रहने वाले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख ने एकबार फिर ऐसा बयान दिया है जिसपर विवाद हो सकता है। पवार ने शुक्रवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने के बाद एक प्रेस वार्ता में कहा कि, महाराष्ट्र के लोगों में भाजपा के प्रति असंतोष है। ऐसे में पुलवामा जैसी घटना ही लोगों का मूड बदल सकती है। उन्होंने कहा, लोकसभा चुनाव 2019 के पहले लोगों में नरेंद्र मोदी सरकार के प्रति गुस्सा था। मगर पुलवामा हमले ने पूरी स्थिति को बदलकर रख दिया।

पुलवामा हमले में संदेह था कि ये जानबुझकर किया गया

औरंगाबाद में शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान पवार ने कहा, ‘लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ गुस्से और तनातनी का माहौल था। हालांकि, सीआरपीएफ जवानों पर पुलवामा में हुए हमले ने पूरे परिदृश्य को बदल दिया था।’ पवार ने आगे विवादित बयान देते हुए कहा, ‘अब महाराष्ट्र में लोगों के मूड को एक और पुलवामा जैसी घटना से रोका जा सकता है।’ पवार ने यह भी दावा किया कि जब उन्होंने इस साल फरवरी में पुलवामा हमले के बारे में पूछताछ की तो उन्हें संदेह था कि यह जानबूझकर किया गया था।

धर्मनिरपेक्ष ताकतों को साथ लाना हमारी कोशिश

पवार ने कहा कि हमारी कोशिश धर्मनिरपेक्ष ताकतों को एकसाथ लाने की है। कांग्रेस और राकांपा एक साथ आए हैं। हम बहुजन विकास अगाड़ी, समाजवादी पार्टी और अन्य छोटे दलों को अपने साथ लेने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज ठाकरे की महाराष्ट्र नव निर्माण सेना हाथ मिलाने को तैयार थी लेकिन कांग्रेस राजी नहीं हुई। पवार ने कहा कि 52 साल के राजनीतिक करियर में मैं लंबे समय तक सत्ता में नहीं रहा फिर भी बारामती (पवार का पूर्व निर्वाचन क्षेत्र) का विकास हुआ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

करीमपुर उपचुनाव से होगा बंगाल विधानसभा के विजय का आगाज : विजयवर्गीय

नदियाः नदिया के करीमपुर विधानसभा उपचुनाव से बंगाल विधानसभा पर विजय का आगाज होगा, शनिवार शाम करीमपुर के महिषबथान में गांधी संकल्प यात्रा को केंद्र आगे पढ़ें »

बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक : शुभेन्दु अधिकारी

मुर्शिदाबाद : मुर्शिदाबाद के जलंगी में बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक। परिवहन मंत्री और तृणमूल के जिला पर्यवेक्षक शुभेन्दु आगे पढ़ें »

ऊपर