रूस देगा भारत को एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम

s400

मॉस्को : रूस के उप प्रधानमंत्री यूरी बोरीसोव ने रविवार को कहा कि भारत को एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम तय समय से दे दिए जाएंगें। उन्होंने बताया कि भारत ने इस ‌मिसाइल सिस्टम का भुगतान कर दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि 18-19 महीनों के अंदर भारत को इसे दे दिया जाएगा। बता दें कि पिछले साल 5 अक्टूबर को दिल्ली में भारत-रूस की वार्षिक द्विपक्षीय बैठक में रक्षा प्रणाली के लिए यह सौदा किया गया था। जिसके लिए भारत ने रूस को 5.43 अरब डॉलर यानी 38 हजार 933 करोड़ रुपए देने के समझौते पर साइन किया था।

2019 में भुगतान करना था जरूरी

पिछले महीने विदेश मंत्री एस जयशंकर रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव से मुलाकात करने के लिए मॉस्को पहुंचे थे। उस दौरान रूस की फेडरल सर्विस की तरफ से यह बयान जारी किया गया था कि भारत के साथ एस-400 के अग्रीम भुगतान का मुद्दा सुलझ गया है। वहीं जुलाई में रूस की रक्षा सहयोग एजेंसी के उप निदेशक व्लादिमीर द्रोजझोव ने कहा था कि यदि हमें 2019 के अंत तक भारत द्वारा अग्रीम भुगतान मिल जाता है तो हम साल 2020 तक उन्हें डिफेंस मिसाइल सिस्टम सौंप देंगे।

जाने क्या है एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम

सूत्रों की माने तो एस-400 मिसाइल सिस्टम, एस-300 का अपडेटेड वर्जन है। जिसमें 400 किलोमीटर के दायरे में आने वाली मिसाइलों को खत्म करने की मारक क्षमता है। साथ ही यह 5वीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों का खत्मा‍ करने का भी दम रखता है। बताया जा रहा है कि एस-400 डिफेंस सिस्टम मिसाइल पर शील्ड बनाने जैसा काम करेगा, जिससे पाकिस्तान और चीन की एटमी क्षमता वाली बैलिस्टिक मिसाइलों से भारत को सुरक्षा मिलेगी। इतना ही नहीं यह सिस्टम एक बार में 72 मिसाइलों को दाग सकता है। और तो और यह सिस्टम अमेरिका के सबसे आधुनिक लड़ाकु जेट एफ-35 को भी गिरा सकता है। साथ ही 36 परमाणु क्षमता वाली मिसाइलों को भी एकसाथ नष्ट कर सकता है। बता दे कि चीन के बाद इस रक्षा प्रणाली को खरीदने वाला भारत दूसरा देश बन गया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

दीपवाली पर नकली मिठाइयों से रहें सावधान, स्वास्थ हो सकता है खराब

नई दिल्ली : त्योहारों पर मिठाइयां ना हो तो त्योहारों का मजा नहीं आता। दीपावली जैसे जैसे करीब आ रही है, बाजार में मिलावटी छेना आगे पढ़ें »

आईएमएफ ने कहा, कॉरपोरेट टैक्स में कटौती स्वागत योग्य फैसला, बढ़ेगा निवेश

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के भारत के फैसले की तारीफ करते हुए कहा है कि यह स्वागत आगे पढ़ें »

ऊपर