प्रियंका गांधी बोलीं- नोटबंदी एक तुगलकी कदम जिसने हमारी अर्थव्यवस्‍था नष्ट कर दी

priyanka

नई दिल्ली : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘नोटबंदी को तीन साल हो गए। सरकार और इसके नीम-हक़ीमों द्वारा किए गए, ‘नोटबंदी सारी बीमारियों का शर्तिया इलाज’ के सारे दावे एक-एक करके धराशायी हो गए। नोटबंदी एक आपदा साबित हुई जिसने हमारी अर्थव्यवस्था बर्बाद कर दी।’’ प्रियंका ने हैशटैग ‘‘डीमोनेटाइजेशन डिज़ास्टर’’ का उपयोग करते हुए सवाल पूछा है ‘‘ इस ‘तुग़लकी’ कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा?’’

राहुल ने कहा नोटबंदी एक आतंकी हमला

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर शुक्रवार को हमला बोला और नोटबंदी को ‘‘आतंकी हमला’’ करार देते हुए कहा कि इसके लिए जिम्मेदार लोगों को अब तक सजा नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि, इसने कई लोगों की जान ली, लाखों छोटे व्यापारियों को खत्म कर दिया और लाखों भारतीय बेरोजगार हुए। जिन लोगों ने यह खतरनाक हमला किया, उनको कटघरे में लाना बाकी है।’’

ममता ने सरकार पर हमला करते हुए यह कहा

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी नोटबंदी को लेकर सरकार पर हमला किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ‘‘मैंने नोटबंदी की घोषणा के तुरंत बात ही कह दिया था कि यह अर्थव्यवस्था और लाखों लोगों के लिए विनाशकारी होगी। नामी अर्थशास्त्रियों, आम लोग और सभी विशेषज्ञ भी अब इस बात से सहमत हैं। आरबीआई के आंकड़ों ने भी यही बताया। नोटबंदी के बाद से आर्थिक आपदा शुरू हो गई थी। किसान, युवा, कर्मचारी और व्यापारी सभी इससे प्रभावित हुए।’’

मालूम हो कि आठ नवंबर 2016 को, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए 500 और 1,000 रुपये के नोटों के प्रचलन से बाहर किए जाने की घोषणा की थी

शेयर करें

मुख्य समाचार

anand kumar

‘सुपर 30’ के संस्थापक ने जेएनयू के इन छात्रों के लिए कही ये बात

नागपुर : बिहार की ‘सुपर 30’ सुविधा के संस्थापक आनंद कुमार ने मंगलवार को कहा कि जेएनयू में फीस वृद्धि पर जारी विरोध प्रदर्शन का आगे पढ़ें »

rao

नर्सरी में लाखों रुपये फीस देने वालों को उच्च शिक्षा में 50 हजार रुपये देने में दिक्कत क्यों : जीवीएल नरसिंह राव

नई दिल्ली : भाजपा के प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य जीवीएल नरसिम्ह राव ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में फीस बढ़ोतरी को तर्कसंगत करार देते हुए आगे पढ़ें »

ऊपर