”राम मंदिर निर्माण में अब कोई बाधा नहीं”- विहिप अध्यक्ष

इंदौर (मध्यप्रदेश) : शीर्ष न्यायालय द्वारा गुरुवार को अयोध्या मामले में दायर पुनर्विचार याचिकाएं खारिज करने के निर्णय का विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे ने स्वागत किया। साथ ही उन्होंने कहा कि अब उन्हें भगवान राम की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण में कोई बाधा नजर नहीं आती। बता दें कि पुनर्विचार याचिकाओं द्वारा शीर्ष न्यायालय के 9 नवंबर के उस फैसले को चुनौती दी गयी थी, जिसके तहत अयोध्या में 2.77 एकड़ की विवादित जमीन पर राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया था। विहिप के इस शीर्ष पदाधिकारी ने कहा, ‘हम अयोध्या मामले में दायर पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज करने के शीर्ष अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं।’

मंदिर के निर्माण में अब कोई कठिनाई नहीं

मध्यप्रदेश और राजस्थान के उच्च न्यायालयों के पूर्व न्यायाधीश कोकजे ने दावा किया कि शीर्ष न्यायालय में पेश की गई ये याचिकाएं अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की राह में अवरोध खड़े करने के लिये बिना किसी उचित आधार के दायर की गयी थीं। इनमें मुकदमे से जुड़े कोई नये तथ्य भी नहीं थे। कोकजे ने कहा कि ”अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण में मुझे अब कोई कठिनाई दिखायी नहीं देती। मेरा मानना है कि निर्माण कार्य शुरू होने के 2 साल के भीतर यह मंदिर बनकर तैयार हो जाना चाहिये।”

सीएबी को बताया मानवीय

विहिप अध्यक्ष ने नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) को संसद की हरी झंडी मिलने पर भी प्रसन्नता जतायी और इस प्रस्तावित कानून को मानवीय करार दिया। उन्होंने यह भी कहा‌ कि वर्ष 1947 में भारत का बंटवारा राजनेताओं ने किया था। बंटवारे के इतने वर्षों बाद भी अगर पाकिस्तान और पड़ोस के अन्य मुस्लिम बहुल राष्ट्रों में हिंदुओं को सताया जा रहा है, तो हम उन्हें यह तो नहीं कह सकते कि वे शरण लेने भारत क्यों आये? कोकजे ने कहा कि देश के कुछ लोग वोट बैंक की राजनीति के चलते सीएबी का विरोध कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनजातियों की कला-संस्कृति, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध : द्रौपदी मुर्मू

रांची : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कहा कि जनजातियों की कला, संस्कृति, लोक साहित्य, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध रही आगे पढ़ें »

अत्यधिक प्रोटीन लेना हो सकता है जानलेवा: रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्वस्थ रहने की बात हो तो सबसे पहले प्रोटीन लेने की सोचते हैं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती है और साथ ही आगे पढ़ें »

ऊपर