100वें स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर नहीं होगा भारत का हिस्सा-वायको

Kashmir will not be part of India on 100th Independence Day - Vaiko

चेन्नई : राज्यसभा सांसद और मरुमलारची द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एमडीएमके) प्रमुख वायको ने सोमवार को कश्मीर मुद्दे पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि आजादी के 100वें साल में कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं होगा। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने यह दावा किया कि 100वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं होगा। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने कश्मीर को मिट्टी में मिला दिया है। मालूम हो कि वायको ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराएं हटाए जाने के केंद्र सरकार के फैसले का विरोध किया था। दरअसल, उन्होंने कहा है कि ‘जब भारत आजादी का 100वां साल मनाएगा तो कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं होगा।

5 अगस्त को भी किया था विरोध

बता दें कि वायको इससे पहले भी कश्मीर मुद्दे पर विवादित बयान दे चुके हैं। 5 अगस्त को जब जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 की कई धाराएं हटाने का संकल्प राज्यसभा में पेश किया गया था उस वक्त भी वायको ने केंद्र सरकार के इस फैसले का विरोध किया था। उन्होंने कहा था कि यह दुख भरा दिन है, आज कश्मीरी लोगों को दिया गया वादा तोड़ा गया है। पत्रकारों के समक्ष अपने बयान की याद दिलाते हुए उन्होंने कहा कि ‘मैं कश्मीर पर पहले भी अपने विचार रख चुका हूं। मैंने कश्मीर मुद्दे पर बीजेपी पर 70 फीसदी और कांग्रेस पर 30 फीसदी हमला बोला है।’

हिंदी के कारण संसद में बहस का स्तर गिरा : वायको

वायको ने पिछले महीने राज्यसभा में चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री हिंदी के जरिये हिंदू राष्ट्र की ओर आगे बढ़ रहे हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हिंदी के कारण संसद में बहस का स्तर गिर गया है। इससे पहले चेन्नई की एक अदालत ने वायको को श्रीलंका के आतंकी संगठन लिट्टे का समर्थन करने पर देशद्रोह का आरोपी मानते हुए दोषी करार दिया था। हालांकि बाद में कोर्ट ने सजा पर रोक लगा दी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनजातियों की कला-संस्कृति, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध : द्रौपदी मुर्मू

रांची : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कहा कि जनजातियों की कला, संस्कृति, लोक साहित्य, परंपरा एवं रीति-रिवाज समृद्ध रही आगे पढ़ें »

अत्यधिक प्रोटीन लेना हो सकता है जानलेवा: रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्वस्थ रहने की बात हो तो सबसे पहले प्रोटीन लेने की सोचते हैं। प्रोटीन से मांसपेशियां मजबूत होती है और साथ ही आगे पढ़ें »

ऊपर