जामिया ने सरकार को भेजा 2.66 करोड़ का बिल, कहा- दिल्ली पुलिस की कार्रवाई में हुआ नुकसान

jamia

नई दिल्ली : जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय ने बीते साल 15 दिसंबर को उसके परिसर में हुई हिंसा के दौरान नुकसान का ‌बिल मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) को भेजा है। जामिया के अनुसार, उक्त हिंसा में पुलिस कार्रवाई से उसे 2.66 करोड़ रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है। इस बिल में 25 सीसीटीवी कैमरों को तोड़े जाने का बिल भी शामिल है। जिनकी कीमत 4.75 लाख रुपये बताई गई है।

दिल्ली पुलिस को ठहराया नुकसान का जिम्मेवार

जामिया विश्वविद्यालय का कहना है कि इस हिंसा में 2,66,16,390 रुपए की सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचा गया है। इसमें 4.75 लाख रुपए के 25 सीसीटीवी कैमरों का नुकसान भी जोड़ा गया है। विश्वविद्यालय के अनुसार, यह क्षति 15 दिसंबर, 2019 को पुलिस कार्रवाई के दौरान हुई। विश्वविद्यालय का आरोप है कि पुलिस बिना अनुमति के कैंपस में घुसी। वहीं पुलिस ने इसे खारिज करते हुए कहा कि वह दंगाईयों की तलाश में कैंपस में आई थी।

वीडियो पर भी हुआ विवाद

पिछले दिनों से जामिया की सीसीटीवी फुटेज सामने आ रही हैं, जिसमें कुछ पुलिस कर्मी पुस्तकालय में लाठियों से छात्रों को पीटते नजर आ रहे हैं और संपत्ति को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं। वहीं पुलिस का कहना है कि इन वीडियो को एडिट किया गया है। पुलिस इनकी प्रामाणिकता का पता लगाने में जुटी है।

सबसे ज्यादा नुकसान कांच के शीशे टूटने से हुआ : लाइब्रेरियन

इस घटना के बाद पुस्तकालय अध्यक्ष तारिक अशरफ ने कहा था कि पुस्तकालय में सबसे ज्यादा नुकसान कांच के शीशे टूटने के कारण हुआ है। क्षतिग्रस्त हुई कुछ अन्य चीजों में सीसीटीवी कैमरे और ट्यूबलाइट शामिल हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि शुक्र है कि कोई भी किताब या पांडुलिपियों को हाथ नहीं लगाया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईपीएल नहीं होने पर फ्रैंचाइजियां नहीं देंगी वेतन, मुश्किल में घरेलू खिलाड़ी

 नयी दिल्ली : कोई खेल नहीं तो कोई वेतन नहीं। इस साल आईपीएल में करार करने वाले खिलाड़ियों के साथ भी ऐसा हो सकता है आगे पढ़ें »

विम्बलडन के रद्द होने की संभावना : मर्रे

लंदन : एंडी मर्रे के भाई और दो बार के चैम्पियन पुरुष युगल खिलाड़ी जैमी मर्रे ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले आगे पढ़ें »

ऊपर