आईएस के नए मुखिया अल-कुरैशी को मिला मिस्र और बांग्लादेश के आतंकी संगठनों समर्थन

isis

बेरुत : मिस्र और बंग्लादेश के आंतकी संगठनों ने इस्लामिक स्टेट (आईएस) के नए सरगना अल-कुरैशी का समर्थन किया है। आईएस की मीडिया शाखा ने शनिवार को इसकी पुष्टि की। बता दें कि आतंकी अबु बकर अल-बगदादी के अमेरिका द्वारा मारे जाने के बाद आईएसआईएस ने अल-कुरैशी को अपना नया मुखिया चुना। आईएस के सूत्रों ने कई तस्वीरें जारी की, जिसमें बांग्लादेश से आए आंतकावदियों और मिस्त्र का आतंकी संगठन सिनाई के सदस्य आईएस के झंडे तले खड़े होकर आईएसआईएस के नए सरगना अबु इब्राहिम अल-हाशमी अल-कुरैशी को अपना समर्थन देते नजर आ रहे हैं। सभी के चेहरे नकाब से ढंके हैं और उनके हाथों में स्वचालित हथियार भी है।

27 अक्टूबर को मारा गया ‌था बगदादी

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 27 अक्तूबर को बगदादी के मारे जाने की घोषणा करते हुए कहा था कि दुनिया का सबसे खतरनाक आतंकी संगठन आईएसआईएस का मुखिया बगदादी अमेरिकी विशेष कमांडों की कार्रवाई में मारा गया। उन्होंने कहा था कि बगदादी ने सेना आते देख अपने ठिकाने के नीचे खुदी सुरंग से भागने की कोशिश की। ट्रंप ने बताया की बगदादी के साथ उसके 3 बच्चे भी थे। इस दौरान सैनिकों और मिलिट्री कुत्तों ने उसका पीछा किया। सुरंग में जब उसे रास्ता नहीं मिला, तो उसने खुद की आत्मघाती जैकेट को ब्लास्ट कर लिया। इस धमाके में उसकी और उसके तीनों बच्चों की मौत हो गई। ट्रंप ने कहा कि विस्फोट में बगदादी का शरीर क्षत-विक्षत हो गया, लेकिन टेस्ट से उसकी पहचान कर ली गई।

31 अक्टूबर को आईएस ने बगदादी के मौत की पुष्टि की

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आईएस ने 31 अक्टूबर को बगदादी के मौत की पुष्टि की। आईएस ने ऑडियो मैसेज द्वारा ये बताया कि अल-कुरैशी को बगदादी के स्थान पर संगठन का नया सरगना बनाया गया है। साथ ही प्रवक्ता अबु हमजा ने दु:ख जताते हुए कहा कि आस्था रखने वालों के मुखिया, हमें आपकी मौत का खेद है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छूआ

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छू लिया है और मुकेश अंबानी की रिलायंस आगे पढ़ें »

Hongkong protest

हाॅन्गकॉन्ग के संवैधानिक मामलों में परिवर्तन का अधिकार केवल हमारा-चीन

बीजिंग : हॉन्गकॉन्ग में जून महीने से प्रदर्शन जारी है। वहां चीन के शासन में स्वतंत्रता खत्म किए जाने के खिलाफ जनता अपने गुस्से को आगे पढ़ें »

ऊपर