ईरानी राष्ट्रपति रूहानी बोले- अमेरिका ने हम पर प्रतिबंध लगाकर मानवता के खिलाफ अपराध किया

ruhani

तेहरान : ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को अमेरिका द्वारा उनके देश पर लगाए गए प्रतिबंध को लेकर कहा कि यह मानवता पर हमला है। यह आर्थिक आतंकवाद है। उन्होंने कहा कि अमेरिका का संयुक्त व्यापक कार्य योजना (जेसीपीओए) से हटना ठीक नहीं है। अमेरिका ने ईरान पर प्रतिबंध लगाकर मानवता के खिलाफ अपराध किया है। रूहानी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की क्षेत्रीय समिति के 66वें सत्र को संबोधित करते हुए यह बात कही।

ट्रम्प प्रशासन का ये रवैया गैरजिम्मेदाराना : ईरानी राष्ट्रपति

रूहानी का कहना है कि ‘अमेरिका ने केवल घरेलू अतिवादियों और सऊदी अरब के दबाव के कारण ईरान के खिलाफ कार्रवाई की है। ईरान पहले भी कह चुका है कि उसका एटमी कार्यक्रम मात्र ऊर्जा की जरूरतों को पूरा करने के लिए है। उन्होंने कहा, इस पर ट्रम्प प्रशासन का ये रवैया गैरजिम्मेदाराना है।’

अमेरिका ने मानवता के खिलाफ अपराध किया

रूहानी ने कहा कि ‘किसी देश का सुरक्षा परिषद से समर्थन प्राप्त समझौते से बाहर निकलना बड़ी बात है। यह दूसरे देश के लिए अपमान जैसा है। खासकर उस वक्‍त जब उन्होंने (अमेरिका) दवाओं और खाने जैसी चीजों पर भी प्रतिबंध लगा दिया हो।’ साथ ही रूहानी ने कहा ऐसा करके निस्संदेह अमेरिका ने मानवता के खिलाफ अपराध किया है। ट्रम्प का यह फैसला आर्थिक आतंकवाद है।

जेसीपीओए का उद्देश्य परमाणु हथियार कार्यक्रमों को रोकना था

गौरतलब है कि ईरान, जर्मनी और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांचों स्थायी सदस्यों- अमेरिका, चीन, रूस, ब्रिटेन और फ्रांस के बीच जुलाई साल 2015 में जेसीपीओए समझौता हुआ था। जिसके तहत ईरान को उसके नागरिक ऊर्जा (परमाणु) कार्यक्रम को सीमित करना था, और इसके बदले उस पर लगे आर्थिक प्रतिबंधों को हटाना था। वहीं 8 मई साल 2018 को अमेरिका इस समझौते से अलग हो गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी को तैयार : रहाणे

नयी दिल्ली : भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उनकी अंतररात्मा की आवाज है कि वह एकदिवसीय प्रारूप में राष्ट्रीय टीम में वापसी करेंगे। आगे पढ़ें »

जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की मदद करती रहेगी सरकार : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेलमंत्री किरेन रीजिजू ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की आर्थिक मदद करता रहेगा क्योंकि देश के लिये खेलते आगे पढ़ें »

ऊपर