कश्मीर मुद्दे पर तुर्की को भारत की नसीहत- हमारे आंतरिक मामलों में दखल न दें

ravish

नई दिल्ली : भारत के विदेश मंत्रालय ने कश्मीर को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन के दिए बयान पर आपत्ति जताते हुए इसे देश का आंतरिक मामला बताया है। साथ ही तुर्की को यह नसीहत दी है कि वह भारत के आंतरिक मामले में दखल न दे। विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘हम तुर्की नेतृत्व से यह अपील करते हैं कि वे भारत के आंतरिक मामलों में दखल न दें और तथ्यों की उचित समझ विकसित करें। पाकिस्तान से भारत और क्षेत्र में आतंकवाद से फैलने वाले गंभीर खतरे को लेकर भी तुर्की को अपनी समझ विकसित करनी चाहिए।’

जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति द्वारा दिए गए सभी संदर्भों को भारत खारिज करता है, जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है।

कश्मीर मुद्दे पर हम पाकिस्तान के साथः तुर्की

गौरतलब है कि तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने शुक्रवार को पाकिस्तान की संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा था कि कश्मीर पाकिस्तान के लिए है जितना महत्वपूर्ण है, उतना ही तुर्की के लिए भी है। दशकों से हमारे कश्मीरी भाई-बहन पीड़ित हैं। कश्मीर के मुद्दे पर हम पाकिस्तान के साथ हैं। इस मुद्दे को हमने संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में उठाया था। इस मुद्दे को लड़ाई से नहीं बल्कि इंसाफ और निष्पक्षता से सुलझाया जा सकता है। तुर्की इंसाफ, शांति और संवाद का समर्थन करता रहेगा।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

बैडमिंटन : मंत्रालय की गाइडलाइंस के बाद कोर्ट पर उतरे लक्ष्य

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) की गाइडलाइंस के बाद बेंगलुरु में पादुकोण-द्रविड़ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर