इमरान ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति से फोन पर कश्मीर का रोना रोया

40 militant outfits active

इस्लामाबादः भारत के जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त करने के बाद से पाकिस्तान की बेचैनी लगातार बढ़ती जा रही है। पाकिस्तान इस मामले को कई वैश्विक नेताओं से लेकर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) तक उठा चुका लेकिन कहीं से उसे समर्थन नहीं मिला। अपनी नाकाम कोशिशों के बावजूद पाक इस मुद्दे को छोड़ने का नाम नहीं ले रहा है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बार इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो से फोन पर की गई बातचीत में कश्मीर मुद्दे का रोना रोया है।

व्यापार संबंधों पर रोक लगा चुका है

बता दें कि भारत ने पिछले सप्ताह जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त को रद्द कर दिया था। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया गया। भारत के इस कदम से पाक तिलमिला उठा है। उसने एक के बाद एक फैसले लेने शुरू कर दिए हैं। पहले उसने भारतीय उच्‍चायुक्त को निष्कासित कर दिया, इसके बाद भारत के साथ व्यापार संबंधों पर भी रोक लगा दिया है। यही नहीं उसने समझौता एक्सप्रेस और कारवां ए अमन बस सेवा भी रोक दिया है।

कश्मी‌रियों के मारे जाने का रोना रोया

‘‘द न्यूज इंटरनेशनल’’ ने एक आधिकारिक बयान के हवाले से सोमवार को बताया गया कि इस घटनाक्रम के बाद इमरान खान तथा विडोडो के बीच फोन पर पहला संवाद हुआ। इमरान ने कहा कि ‘‘बेकसूर कश्मीरियों के मारे जाने का गंभीर खतरा है’’ और ऐसी त्रासदी को रोकना अंतरराष्ट्रीय समुदाय का दायित्व है।

गौरतलब है कि कश्मीर की स्थिति को लेकर इमरान पहले ही ब्रिटेन और मलेशिया के प्रधानमंत्रियों, तुर्की के राष्ट्रपति, सऊदी अरब के शहजादे और बहरीन के सम्राट से बात कर चुके हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दो मामलों में विधायक अनंत सिंह के खिलाफ पेशी वारंट

पटना : बिहार के भागलपुर जेल में बंद मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत कुमार सिंह की उपस्थिति के लिए पटना की एक विशेष अदालत ने आगे पढ़ें »

दरभंगा के किसानों को कृषि फीडर से मिलेगी निर्बाध बिजली

दरभंगा : बिहार में किसानों को डेडीकेटेड कृषि फीडर के माध्यम से सिंचाई के लिए निर्बाध विद्युत आपूर्ति उपलब्ध कराये जाने के प्रयासों के तहत आगे पढ़ें »

ऊपर