पुराने नोट जमा कराने पर ‘कर माफी’ नहीं

नई दिल्लीः सरकार ने स्पष्ट किया है कि बैंकों में पुराने 500 और 1000 के नोट जमा कराने पर किसी तरह की ‘कर माफी’ नहीं मिलेगी और इस तरह के धन के स्रोत पर कर कानून लागू होगा। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि ‘ऊंचे मूल्य के नोटों को बैंक खातों में जमा करा कर ही नए और छोटे मूल्य के नोट हासिल किए जा सकते हैं। यह पूरी तरह से साफ है कि यह कोई माफी योजना नहीं है। इस राशि को जमा कराने पर कराधान से किसी तरह की राहत नहीं मिलेगी। ऐसे धन के स्रोत पर जरूरी कानून लागू होगा।’ यदि यह धन कानूनी तौर पर वैध है और इससे पूर्व में बैंक से निकाला गया है या कानूनी तरीके से कमाया गया और बचाया गया है, तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। यदि यह गैरकानूनी पैसा है, तो इसके स्रोत का खुलासा करना होगा। यदि यह अपराध या रिश्वत की कमाई है, तो यह परेशानी की बात है।’ गृहिणियों तथा किसानों, जिनकी बचत की जरूरत उचित है, उन्हें बैंक खातों में पैसा जमा कराने को लेकर किसी तरह की चिंता नहीं करनी चाहिए।

घर में खर्च के 50,000 हैं तो बेधड़क जमा करें

यदि लोग छोटी राशि मसलन 25000 रुपये, 30000 या 50000 रुपये जो घर में खर्च के लिए पड़ा है उसे जमा कराना चाहते हैं तो उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है। वे बैंकों के पास बेधड़क जा सकते हैं। पहले एक या दो सप्ताह के दौरान इनके स्थान पर बदलने के लिए नए नोटों की कमी हो सकती है, लेकिन दो-तीन सप्ताह में अधिक नोटों की आपूर्ति के बाद इन्हें सामान्य तरीके से बदला जा सकेगा।

ईमानदार के लिए फायदे का, बेईमान के लिए नुकसान का फैसला

जेटली ने कहा कि इस कदम से लेनदेन अधिक से अधिक डिजिटल होगा। लोग अपनी आय का खुलासा करेंगे और कर अदा करेंगे। देश कर अनुपालन वाला समाज बन सकेगा। जिन लोगों के पास कालाधन, अपराध या रिश्वत की कमाई है उन्हें इससे झटका लगेगा। यह फैसला ईमानदारी के लिए फायदे का, बेईमानी के लिए नुकसान का है। शुरुआत में कुछ दिन या कुछ सप्ताह लोगों को असुविधा हो सकती है। लेकिन भारत कालेधन और समानान्तर अर्थव्यवस्था पर हमेशा नहीं चल सकता। इस फैसले से अधिक से अधिक लेनदेन कर दायरे में आएगा और प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संग्रहण दोनों में इजाफा होगा। समानान्तर अर्थव्यवस्था में कमी से औपचारिक अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ेगा। इस फैसले का कुछ असर राजनीति में भी दिखेगा। कुछ राजनीतिक चंदा अब चेकों के जरिए आना शुरू हुआ है। यदि इस कदम से कुछ सफाई हो पाती है, तो यह काफी शानदार उपाय साबित होगा।

बड़ी राहत- शनिवार और रविवार को भी खुले रहेंगे सब बैंक

मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 के नोट को बंद किए जाने के बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने बड़ा फैसला लेते हुए घोषणा की है कि बैंक इस शनिवार और रविवार को भी खुले रहेंगे। रिजर्व बैंक ने आदेश जारी किया है कि शनिवार 12 नवंबर और रविवार 13 नवंबर को सभी बैंक खुले रहेंगे। आईसीआईसीआई बैंक ने दो दिन तक अपनी सभी शाखाओं का समय बढ़ाकर सुबह 8 से रात 8 बजे तक कर दिया है। साथ ही 31 दिसंबर तक अपने ग्राहकों के लिए अपने एटीएम पर ट्रांजेक्शन की लिमिट खत्म कर दी है।

11 नवंबर तक टोल टैक्स नहीं

जनता को राहत देने के लिए सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी ऐलान किया कि 11 नवंबर तक किसी भी नेशनल हाईवे पर टोल टैक्स नहीं लगेगा। केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि यह गरीबों के हित में फैसला है। यह भारत को कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में बड़ा कदम है। फैसले का विरोध करने पर नायडू ने कांग्रेस पर सवाल खड़े किए और कहा कि संशय क्यों पैदा किया जा रहा है? किंतु-परंतु क्यों?

शुक्रवार से एटीएम से निकलेंगे नए नोट

वित्त सचिव अशोक लवासा ने बुधवार को स्पष्ट किया कि धन राशि निकालने हेतु 500 और 2000 रुपये मूल्य के नए नोट भी लोगों के लिए उपलब्ध होंगे। लवासा ने कहा, ‘कोई कठिनाई नहीं होगी, क्योंकि 500 और 2000 रुपये के नोट सभी एटीएम पर 11 नवंबर से उपलब्ध होंगे।’ जब शुक्रवार को एटीएम खुलेंगे तो एक व्यक्ति एकल कार्ड के जरिए 18 नवंबर तक 2000 रुपये प्रतिदिन निकाल सकता है, इसके बाद सीमा बढ़ाकर प्रतिदिन चार हजार रुपये कर दी जाएगी।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

ट्रम्प पर 16 राज्यों ने मुकदमा किया

सैन फ्रांसिस्को : मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिये राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करने के फैसले के खिलाफ अमेरिका के 16 राज्यों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों ने ट्रंप के इस [Read more...]

जैश सरगना पाकिस्तान में है, यह सबूत कार्रवाई के लिये पर्यात : विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली : गत 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुये आतंकी हमले को लेकर मंगलवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के भारत से सबूत मांगने और हमले की साजिश रचनेवालों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन देने के बाद [Read more...]

मुख्य समाचार

ट्रम्प पर 16 राज्यों ने मुकदमा किया

सैन फ्रांसिस्को : मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिये राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करने के फैसले के खिलाफ अमेरिका के 16 राज्यों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों ने ट्रंप के इस [Read more...]

भारत और अर्जेंटीना ने की साझेदारी, 2025 तक 5 ट्रिलियन अमरीकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लक्ष्य रखा

नई दिल्ली : केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग और नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि भारत अर्जेंटीना के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने का इच्छुक है। यह लैटिन अमेरिकी क्षेत्र में भारत का एक प्रमुख व्यापारिक भागीदार है। नई [Read more...]

ऊपर