मुहर्रम पर मुसलमानों को बधाई देकर विवादों में फंसे दिग्विजय सिंह

digvijay singh

भोपाल : मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह हमेशा अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में बने रहते है। सिंह इस बार मुहर्रम पर किए गए अपने ही ट्वीट पर विवादों में घिर गए। दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को मुहर्रम के दिन ट्वीट कर लिखा-सभी मुस्लिम भाईयों और बहनों को मुहर्रम के पावन अवसर पर हमारा सलाम।सिंह का ट्वीट देखने के बाद लोगों ने उन्हें खरी-खोटी सुनाई। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता शाहनवाज हुसैन समेत कई लोगों ने उन्हें ट्वीट कर याद दिलाया कि मुहर्रम खुशी का नहीं बल्कि‌ मातम का दिन है।

पूर्व मुख्यमंत्री को कुछ नहीं पता

दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर निशाना साधते हुए एक ट्वीटर उपभोक्ता ने अपने कमेंट में लिखा कि पूर्व मुख्यमंत्री के हिसाब से प्रत्येक दिन मतदान का है, उन्हें दुख का दिन हो या सुख का सब एक समान लगता है। वहीं एक दूसरे उपभोक्ता ने लिखा कि पूर्व मुख्यमंत्री साहब को ये भी नहीं मालूम कि मुहर्रम पर मुबारकबाद नहीं दी जाती। साथ ही एक और उपभोक्ता ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मुहर्रम कोई पावन अवसर नहीं बल्कि मातम का दिन है।

बता दें कि सातवीं शताब्‍दी में क्रूर शासक याजीद के खिलाफ हजरत इमाम हुसैन करबला की जंग में शहीद हो गए थे। हुसैन की याद में मुस्लिम मुहर्रम के दिन काले कपड़े पहनकर सड़क पर जुलूस निकालते है और उनकी शहादत को याद करते है। आपको बता दें कि इस्‍लामिक कलैंडर का पहला महीना पैगंबर मोहम्मद के नाती इमाम हुसैन की याद में मनाया जाता है। इस्‍लामिक कलैंडर के हिसाब से इस महीने को पवित्र माना जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में आए 368 नये संक्रमण के मामले, 10 लोगों की आज फिर हुई मौत

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 368 नये मामले दर्ज किये गये है। इस दौरान 10 लोगों की संक्रमण आगे पढ़ें »

कुलपति परिषद ने राज्यपाल धनखड़ के पत्र पर जताई आपत्ति

कोलकाता : पश्चिम बंगाल कुलपति परिषद ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को लिखे गए उस पत्र पर आपत्ति जताई जिसमें आगे पढ़ें »

ऊपर