भाजपा एक बेटी को नहीं बचा पाई-अखिलेश

लखनऊ : उन्नाव कांड की पीड़िता की मौत के बाद प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। जहां एक ओर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मृत पीड़िता के परिवारजनों को इंसाफ दिलाने के लिए उन्नाव की तरफ रवाना हो गई, वहीं शनिवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानभवन के सामने धरने पर बैठ गए। अखिलेश यादव 11 बजे विधानभवन के सामने पहुंचे और प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल व राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी के साथ प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था, महिलाओं के प्रति अपराधों में वृद्धि पर आक्रोश जताने के लिए धरने पर बैठ गए।

दो मिनट का मौन रखकर दुष्कर्म पीड़िता को दी श्रद्धांजलि

उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र की रहने वाली दुष्कर्म पीड़िता को पांच लोगों ने पैट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी। उसे 95 फीसदी जली हालत में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां शुक्रवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर पीड़िता ने दम तोड़ दिया। इस घटना के खिलाफ अखिलेश ने विधानसभा के बाहर दो मिनट का मौन रखकर दुष्कर्म पीड़िता को श्रद्धांजलि दी।

न्याय के लिए सपा लड़ाई लड़ेगी

अखिलेश के धरने पर बैठने की सूचना मिलते ही विधानसभा के बाहर कार्यकर्ताओं की तादात बढ़ने लगी। सपा नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके राज में महिलाएं, बच्चियां सुरक्षित नहीं है। पीड़िता के परिवार को न्याय दिलाने के लिए सपा लड़ाई लड़ेगी। वहीं,अखिलेश ने उन्नाव की घटना को बेहद दुखद और निंदनीय बताया है। उन्होंने कहा कि उन्नाव की बेटी जिंदा रहना चाहती थी, लेकिन डॉक्टरों की कोशिश के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका। भाजपा की सरकार में ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। बेटियां न्याय की मांग कर रही हैं। उनका कहना है कि भाजपा की सरकार में बेटियों के खिलाफ अपराध बढ़ा है। वैसे तो भाजपा कानून व्यवस्था ठीक होने का दावा करती है लेकिन प्रदेश में एक बेटी की जान नहीं बचा पाई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अनअकैडमी, ड्रीम11 ने आईपीएल टाइटल प्रायोजक के लिये दस्तावेज सौंपे

नयी दिल्ली : शिक्षा प्रौद्यौगिकी कंपनी ‘अनअकैडमी’ और फंतासी स्पोर्ट्स मंच ‘ड्रीम11’ ने इस साल चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो की जगह इंडियन प्रीमियर लीग आगे पढ़ें »

धोनी की अगुवाई में सीएसके खिलाड़ी आईपीएल शिविर के लिए चेन्नई पहुंचे

चेन्नई : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और चेन्नई सुपरकिंग्स के टीम के उनके साथी खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगे पढ़ें »

ऊपर