उत्तराखंड में केदारनाथ हाइवे पर चट्टान गिरने से 8 लोगों की दर्दनाक मौत

uttarakhand

देहरादून : उत्तराखंड में देर रात केदारनाथ हाईवे पर पहाड़ी से मलबा गिरने से आठ लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। पुलिस के अनुसार, हादसा कल देर रात हुआ जब पहाड़ी से गिरे मलबे के साथ एक भारी बोल्डर एक वाहन और दो मोटरसाइकिलों पर आ गिरा। हादसा इतना जबरदस्त था कि मलबे के साथ ही वाहन करीब 500 मीटर गहरे खड्ड में जा गिरे। इस हादसे में पांच व्यक्तियों की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि तीन अन्य ने अस्पताल में दम तोड दिया।

भूस्‍खलन प्रभावित जोन है यह क्षेत्र

जानकारी के अनुसार, शनिवार देर रात गौरकुंड हाईवे पर भूस्खलन प्रभावित जोन चंडीकाधार में चट्टान का बड़ा हिस्सा (बोल्डर) टूट गया, जिसकी चपेट में आकर दो मोटर साइकिल पर सवार पांच सवारियां और एक कार गहरी खाई में जा गिरी। रुद्रप्रयाग के क्षेत्राधिकारी गणेश कोली ने बताया कि अब तक चल रहे बचाव और राहत अभियान में चार शवों को मलबे से निकाल लिया गया है जबकि पांचवें शव को निकालने का प्रयास जारी है। उन्होंने बताया कि चट्टान कड़ी होने के कारण बचाव और राहत कार्य में परेशानी आ रही है और उसे तोड़ने के लिये भारी मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है।

सोनप्रयाग से रूद्रपयाग की ओर जा रहे थे

बताया जा रहा कि हादसे के समय वाहन सोनप्रयाग से रुद्रप्रयाग की ओर आ रहे थे। हादसे के शिकार तीन लोगों की शिनाख्त हो चुकी है जिनमें से एक रुद्रप्रयाग जबकि दो ऋषिकेश के निवासी थे। स्थानीय लोगों ने दुर्घटना की सूचना पुलिस और प्रशासन को दी जिसके बाद पुलिस और एसडीआरएफ के जवान मौके पर पहुंचे। इस घटना पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दुख व्यक्त किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

एसबीआई उपभोक्ता ऐसे सिक्योर रख सकते हैं ऑनलाइन बैंकिंग

नई दिल्ली : एसबीआई में आप हाई-सिक्योरिटी पासवर्ड सेट कर सकते हैं, जिससे यूजर्स अपने मोबाइल फोन या ईमेल आईडी पर अपने लेनदेन से संबंधित आगे पढ़ें »

diabetes-day-image

ऐसी जीवनशैली अपनाएंगे तो नहीं होगी डायबिटीज

मधुमेह के लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार हमारी बिगड़ती जीवनशैली के कारण हमारा शरीर कई बीमारियों का घर बन गया है। इन्हीं बीमारियों में से एक आगे पढ़ें »

ऊपर