गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर देशभर की जेलों से 611 कैदी रिहा

gandhi jayanti

नयी दिल्ली : महात्मा गांधी की 150वी जयंती के अवसर पर विशेष क्षमा योजना के तहत देशभर की जेलों से 600 से अधिक कैदियों को रिहा किया गया है। दो अक्टूबर को 611 कैदियों की रिहाई के साथ ही पिछले एक वर्ष में इस योजना के तहत रिहा होने वाले कैदियों की कुल संख्या बढ़कर 2,035 हो गई है। हालांकि, उन कैदियों को विशेष माफी योजना के तहत रिहा नहीं किया गया, जिन्हें हत्या, बलात्कार या भ्रष्टाचार के मामलों में दोषी ठहराया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में लिया गया था निर्णय

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 18 जुलाई, 2018 को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विशिष्ट श्रेणी के कैदियों को विशेष माफी दिये जाने और उन्हें तीन चरणों में- दो अक्टूबर, 2018, छह अप्रैल, 2019 और दो अक्टूबर 2019 को जेलों से रिहा करने का निर्णय लिया था। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि यह गांधी की 150वीं जयंती के कार्यक्रमों का हिस्सा है। इस योजना के पहले चरण में, पिछले साल दो अक्टूबर को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने 919 कैदियों को रिहा किया था। दूसरे चरण में, इस साल छह अप्रैल को, 505 कैदियों को रिहा किया गया था। वहीं बुधवार को योजना के तीसरे चरण में, 611 कैदियों को जेलों से रिहा किया गया।

कै‌दियों की रिहाई के लिए राज्यों को यह परामर्श जारी हुआ था

अधिकारियों ने बताया कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को परामर्श जारी किया गया था कि कैदियों की रिहाई से पहले सभी जेलों में महात्मा गांधी के विचारों पर आधारित सप्ताह भर के विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। उन्हें माल्यार्पण के लिए कैदियों को महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास ले जाने और उन्हें राष्ट्रपिता से संबंधित किताबें उपहारस्वरूप देने की सलाह दी गई थी।

बता दें कि इस माफी योजना के तहत 55 वर्ष या उससे अधिक आयु की महिला कैदियों और 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के पुरुष कैदियों को, जिन्होंने अपनी सजा का आधा हिस्सा पूरा कर लिया है और कुछ अन्य श्रेणी के कैदियों को पात्रता के आधार पर रिहा किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता की हुंकार : नहीं होने देंगे एनआरसी

सागरदिघी (मुर्शिदाबाद) : राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर राजनीतिक बहस बढ़ती ही जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हुंकार भरते हुए आगे पढ़ें »

डीआरआई का रेड और नोटों की बारिश

कोलकाता : महानगर के डलहौसी इलाके के बेन्टिक स्ट्रीट में बुधवार की दोपहर बाद अचानक एक कामर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर