कैस्पियन सागर में मिली 1700 साल पुरानी इमारत, पड़ताल में जुटे वैज्ञानिक

1700-year-old building found in the Caspian Sea, scientists engaged in the investigation

लंदनः रूस के शहर डर्बेंट के पास कैस्पियन सागर में एक 1700 साल पुरानी इमारत मिली है। ये इमारत पूर्णतः भूमिगत है और स्‍थानीय चूना पत्थर से निर्मित है। पुरातत्वविदों के विभिन्न निष्कर्षों के अनुसार मध्ययुगीन किले नार्यन-कला के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में स्थित ये इमारत क्रॉस के आकार में है जिससे उसके किसी प्राचीन चर्च होने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि वैज्ञानिक अभी इस रहस्यमयी इमारत की जांच पड़ताल में जुटे हुए हैं।

म्यूऑन रेडियोग्राफी की ली जा रही है मदद

रूसी एकेडमी ऑफ साइंसेज के शोधकर्ताओं, स्कोबेल्त्सिन इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर फिजिक्स लोमोनोसोव मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटी और डागेस्टैन स्टेट यूनिवर्सिटी मिलकर इस इमारत की एक छवि तैयार करने के लिए गैर-इनवेसिव तकनीक म्यूऑन रेडियोग्राफी का इस्तेमाल कर रहे हैं। कयास ये भी लगाए जा रहे हैं कि ये ढांचा कोई जलाशय या फिर जोरास्ट्रियन मंदिर भी हो सकता है। शोधकर्ताओं के बताया कि अगर इस इमारत के चर्च होने की बात सही साबित हुई तो यह दुनिया के सबसे प्राचीन चर्चों में से एक हो सकता है। इसके क्षेत्र के बारे में बात करें तो यह 36 फीट ऊंची, 50 फीट लंबी और 44 फीट चौड़ी है।

गौरतलब है कि ये जगह यूनेस्को के विरासत स्‍थलों में शामिल है और उत्खनन कार्य किए जाने से ये खतरे में पड़ सकती है। वहीं वैज्ञानिक समूह की प्रमुख नतालिया पोलुखिना का मानना है कि इस इमारत की आयताकार बनावट से ऐसा लगता है कि ये कोई पानी का टैंक हो सकता है लेकिन जांच के पूरा होने तक अभी कुछ ठीक से कहा नहीं जा सकता।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गूगल मैप ने चार महीने से लापता बेटी को पिता से मिलाया

नयी दिल्लीः गूगल मैप की सहायता से दिल्ली पुलिस ने चार महीने से लापता हुई 12 वर्षीय बच्ची को उसके पिता से मिला दिया। पुलिस आगे पढ़ें »

current

कर्नाटक: सरकारी हाॅस्टल के 5 छात्रों की करंट लगने से हुई मौत

बेंगलुरू : कर्नाटक में हुए दर्दनाक हादसे में एक सरकारी हॉस्टल में करंट लगने से पांच छात्रों की मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर आगे पढ़ें »

ऊपर