हर हफ्ते एक क्रेडिट कार्ड जितना प्लास्टिक निगलता है इंसान,ये है वजह

नई दिल्लीः हर हफ्ते इंसान के अंदर एक क्रेडिट कार्ड जितना तकरीबन पांच ग्राम प्लास्‍टिक जाने-अनजाने प्रवेश कर रहा है। इसका मुख्य कारण है पीने का पानी। जी हां, वो पानी जिसे हम जीवन का स्‍त्रोत मानते हैं, जिसके बिना प्राणी जीवित नहीं रह सकता। वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि जल प्रदूषण इस हद तक बढ़ गया है कि पीने के पानी के कई स्‍त्रातों में प्लास्टिक के कण मिल रहें है, जिनमें बोतलबंद पानी, नल का पानी,सतह का जल और भूमिगत जल शामिल हैं। ऐसा पहली बार है जब इंसान के शरीर में पहुंच रहे प्लास्टिक का आंकड़ा सामने आया है।

प्लास्टिक प्रकृति को बना रहा है जहर

ऑस्ट्रेलिया की न्यूकैसल यूनिवर्सिटी के शोध में ये बात सामने आयी है कि प्लास्टिक का उपयोग पानी में धीरे-धीरे जहर घोल रहा है। शोध के नतीजाें के अनुसार प्लास्टिक प्रदूषण के बढ़ते स्तर के कारण पीने के पानी के माध्यम से हम जहर निगल रहे हैं। तो दूसरा एक कारण शैलफिश को भी बताया गया है। सी फूड पसंद करने वाले लोगों के लिए यह बड़ी हैरानी की बात है। समुद्र में रहने वाली शैलफिश खाने से भी प्लास्टिक शरीर में पहुंचता है।

इतने प्लास्टिक के कण जा रहे हैं आपके शरीर में

दुनिया भर में प्लास्‍टिक का निर्माण बढ़ता ही जा रहा है। अब इसने एक वैश्‍विक संकट का रूप ले लिया है जिसको जल्द से जल्द रोकने की आवश्यकता है। रिपोर्ट के मुताबिक हर हफ्ते इंसान के शरीर में 1769 प्लास्टिक के कण प्रवेश कर रहे हैं। जोकि एक बहुत बड़े खतरे का सूचक है। प्लास्टिक का एक तिहाई हिस्सा बहुत बड़ा प्राकृतिक संकट खड़ा कर देगा।

विश्व के कई हिस्से हैं प्रभावित

विश्वभर में वैज्ञानिक इस मामले पर शोध करने में जुटे हुए हैं। वैश्‍विक स्तर पर हुई 52 शोधों में यह पता लगाया जाना अभी बाकी है कि इस प्रदूषण की सबसे अधिक मात्रा कहां है। लेकिन पीने के पानी में प्रति लीटर के पैमाने पर देखा जाए तो सिर्फ अमेरिका में प्लास्‍टिक फाइबर की मात्रा 9.6 प्रतिशत पायी गई है। वहीं यूरोपियन देशों में अभी ये मात्रा कुछ कम है, यहां प्रति लीटर पानी में 7.2 प्रतिशत फाइबर पाया गया है।

गौरतलब है कि वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर की निदेशक कविता प्रकाश मणि ने कहा है कि प्लास्टिक पॉल्यूशन का मुख्य स्‍त्रोत खोजकर उसके रोकथाम की आवश्यकता है। इसके खिलाफ अभियान चलाना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ओलंपिक तैयारियों के लिये नये विदशी कोच की उम्मीद : चिराग-सात्विक

नयी दिल्ली : भारत के चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की पुरूष युगल जोड़ी इंडोनेशिया के फ्लांडी लिम्पेले के अचानक जाने के बाद अपनी ओलंपिक आगे पढ़ें »

वर्ल्ड कप 2011 : फाइनल में मैंने ही धोनी को ऊपर आने के लिए कहा था – सचिन

नयी दिल्‍ली : पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने 2011 वनडे वर्ल्ड कप के जीत के क्षण को याद किया। सचिन ने कहा कि श्रीलंका आगे पढ़ें »

लॉकडाउन के बीच घर में ही टेनिस खेल रहे हैं दिग्गज खिलाड़ी 

फीफा ने टोक्यो ओलंपिक के लिए फुटबॉलरों की आयु सीमा बढ़ाई, अब 24 साल के खिलाड़ी भी खेल सकेंगे

टेस्ट स्पिनर स्टीफन ओकीफी ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास लिया

कोरोना : पीवी सिंधू 3 वर्ष तक रह सकती हैं वर्ल्ड चैंपियन

डोपिंग : थाईलैंड और मलेशिया के भारोत्तोलकों को टोक्यो ओलम्पिक में भाग लेने से प्रतिबंधित किया गया

कोरोना : बुजुर्गों और बच्चों को स्वच्छ खाना उपलब्ध कराएगी आईटीसी

स्‍टेडियम की असली ताकत उसमें मौजूद दर्शक होते है : विराट कोहली

पीएम-केयर्स फंड में स्टील कंपनियों ने 267.55 करोड़ रुपये दिए, सुपरमार्ट्स ने 100 करोड़ रुपये दिए

ऊपर