हर हफ्ते एक क्रेडिट कार्ड जितना प्लास्टिक निगलता है इंसान,ये है वजह

नई दिल्लीः हर हफ्ते इंसान के अंदर एक क्रेडिट कार्ड जितना तकरीबन पांच ग्राम प्लास्‍टिक जाने-अनजाने प्रवेश कर रहा है। इसका मुख्य कारण है पीने का पानी। जी हां, वो पानी जिसे हम जीवन का स्‍त्रोत मानते हैं, जिसके बिना प्राणी जीवित नहीं रह सकता। वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि जल प्रदूषण इस हद तक बढ़ गया है कि पीने के पानी के कई स्‍त्रातों में प्लास्टिक के कण मिल रहें है, जिनमें बोतलबंद पानी, नल का पानी,सतह का जल और भूमिगत जल शामिल हैं। ऐसा पहली बार है जब इंसान के शरीर में पहुंच रहे प्लास्टिक का आंकड़ा सामने आया है।

प्लास्टिक प्रकृति को बना रहा है जहर

ऑस्ट्रेलिया की न्यूकैसल यूनिवर्सिटी के शोध में ये बात सामने आयी है कि प्लास्टिक का उपयोग पानी में धीरे-धीरे जहर घोल रहा है। शोध के नतीजाें के अनुसार प्लास्टिक प्रदूषण के बढ़ते स्तर के कारण पीने के पानी के माध्यम से हम जहर निगल रहे हैं। तो दूसरा एक कारण शैलफिश को भी बताया गया है। सी फूड पसंद करने वाले लोगों के लिए यह बड़ी हैरानी की बात है। समुद्र में रहने वाली शैलफिश खाने से भी प्लास्टिक शरीर में पहुंचता है।

इतने प्लास्टिक के कण जा रहे हैं आपके शरीर में

दुनिया भर में प्लास्‍टिक का निर्माण बढ़ता ही जा रहा है। अब इसने एक वैश्‍विक संकट का रूप ले लिया है जिसको जल्द से जल्द रोकने की आवश्यकता है। रिपोर्ट के मुताबिक हर हफ्ते इंसान के शरीर में 1769 प्लास्टिक के कण प्रवेश कर रहे हैं। जोकि एक बहुत बड़े खतरे का सूचक है। प्लास्टिक का एक तिहाई हिस्सा बहुत बड़ा प्राकृतिक संकट खड़ा कर देगा।

विश्व के कई हिस्से हैं प्रभावित

विश्वभर में वैज्ञानिक इस मामले पर शोध करने में जुटे हुए हैं। वैश्‍विक स्तर पर हुई 52 शोधों में यह पता लगाया जाना अभी बाकी है कि इस प्रदूषण की सबसे अधिक मात्रा कहां है। लेकिन पीने के पानी में प्रति लीटर के पैमाने पर देखा जाए तो सिर्फ अमेरिका में प्लास्‍टिक फाइबर की मात्रा 9.6 प्रतिशत पायी गई है। वहीं यूरोपियन देशों में अभी ये मात्रा कुछ कम है, यहां प्रति लीटर पानी में 7.2 प्रतिशत फाइबर पाया गया है।

गौरतलब है कि वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर की निदेशक कविता प्रकाश मणि ने कहा है कि प्लास्टिक पॉल्यूशन का मुख्य स्‍त्रोत खोजकर उसके रोकथाम की आवश्यकता है। इसके खिलाफ अभियान चलाना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

modi

नागरिकता कानून पर हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण, अफवाहों से दूर रहें और शांति बनाए रखें : पीएम मोदी

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन कानून पर देश के कई शहरों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों पर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान आया। आगे पढ़ें »

bangladesh

भारत में अवैध ढंग से रह रहे अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए तैयार है बांग्लादेश

ढाका : बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए के अबदुल मोमेन ने भारत से अपील करते हुए कहा कि यदि उनके यहां अवैध रूप से रह आगे पढ़ें »

rahul

स्मृति की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने मांगा राहुल के बयान पर जवाब

momota

महिलाओं के खिलाफ हिंसा को ‘न’ कहें : ममता बनर्जी

नवंबर में थोक महंगाई दर में 0.58% की बढ़ोत्तरी, प्याज की कीमतों में सबसे ज्यादा वृद्धि

अपने पुराने यूएएन नंबर को इस तरह करें नए में ट्रांसफर

dhankhad

ममता की रैली पर धनखड़ ने कहा, असंवैधानिक और भड़काऊ कार्य करने से बचें

court

जामिया हिंसा पर मंगलवार को होगी सुनवाई, पहले रोके जाएं हिंसक प्रदर्शन- सुप्रीम कोर्ट

aligadh

नागरिकता कानून : अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों का प्रदर्शन, 6 जिलों में धारा 144 लागू, 500 के खिलाफ केस दर्ज

ordoan

ट्रम्प ने तुर्की पर प्रतिबंध बढ़ाए, तो देश में मौजूद अमे‌‌रिकी बेस बंद होंगे : राष्ट्रपति अर्दोआन

ऊपर