प्लास्टिक में डालकर बच्‍ची को नाले में फेंका, कुत्ते ने बचाई जान

the dog saved her life,

हरियाणाः कैथल क्षेत्र के डोगरा गेट के पास से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आयी है। गुरुवार को एक महिला ने नवजात बच्ची को प्लास्टिक की थैली में डालकर नाले में फेंक दिया। वह तो उस बच्‍ची की किस्मत अच्‍छी थी कि वक्त रहते उसकी जान बच गई। महिला द्वारा उस बच्ची को फेंकने के बाद एक कुत्ता उसे नाले से निकालकर बाहर ले आया और तब तक भौंकता रहा जब तक लोग इकट्ठे नहीं हो गए। फिर जल्द से जल्द बच्ची को अस्पताल पहुंचाया गया। डॉक्टरों ने बताया है कि बच्ची की हालत अब ‌स्‍थिर है।
सीसीटीवी में कैद हुई घटना
यह सारी घटना उस क्षेत्र के पास लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। फुटेज में ये साफ-साफ देखा जा सकता है कि घटना सुबह 4.18 बजे की है जब महिला बच्ची को नाले में फेंकती है। सुबह 4.27 बजे कुछ दूर घूम रहा एक कुत्ता रोती हुई बच्ची को नाले से निकालकर बाहर ले आया। कुत्ते के भौंकने पर मुखत्यार नाम के एक शख्स ने सबसे पहले बाहर आकर देखा कि किसी बच्चे के रोने की आवाज आ रही है, जब पास गया तो उसके होश उड़ गए। उसने बताया कि “मैं भौंकने की आवाज सुनकर घर से बाहर निकला। देखा कि कुत्ता पॉलीथिन के पास खड़ा है। किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी। मैंने फौरन पड़ोसियों को बुलाकर सूचना पुलिस को दी। पॉलीथिन से नवजात बच्ची मिली, जिसे पुलिस ने सिविल अस्पताल पहुंचाया।”
अज्ञात महिला के खिलाफ केस दर्ज
पुलिस ने इस मामले में जांच-पड़ताल शुरू कर दी है और अज्ञात महिला के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 317 के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था। बाद में हालत में कुछ सुधार आने के बाद बच्ची को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया। सिविल अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अनिल अग्रवाल ने बताया, “बच्ची की हालत नाजुक थी, अब खतरे से बाहर है। उसके सिर पर कुत्ते के दांत निशान थे। सुबह के समय ही बच्ची को पीजीआई रेफर करते तो उसकी जान पे खतरा बन सकता था, इसलिए दिनभर सिविल अस्पताल में इलाज किया।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर