पिछड़े और आदिवासी इलाकों से गुजरेगी दिल्‍ली-मुंबई एक्सप्रेस वे : गडकरी

नयी दिल्ली : लोकसभा के पहले सत्र के प्रश्नकाल के दौरान केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे देश का पहला राजमार्ग होगा जो 5 राज्यों के पिछड़े और आदिवासी इलाकों से होकर गुजर रहा है। साथ ही उन्होंने इस राजमार्ग का निर्माण कार्य साढ़े तीन साल में पूरा हो जाने की बात भी कही।
शहरों से होकर रास्ता निकालने में खर्च अधिक
निचले सदन में पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि राजमार्ग को पिछड़े और आदिवासी क्षेत्रों से होकर गुजारने का मकसद इसपर होने वाले खर्च को कम करना है। उन्होंने कहा कि बड़े शहरों से होकर एक्सप्रेस वे निकालने में परियोजना की लागत बढ़ जाती है, इसलिए इस राजमार्ग को पिछड़े और आदिवासी इलाकों से होकर गुजारा जा रहा है। उनका कहना था कि इस परिस्थिति में बड़े शहरों को सम्पर्क मार्गो के जरिए जोड़ने का भी काम किया जाएगा।
दिल्ली से मुंबई के बीच यात्रा का समय घटेगा
गडकरी ने कहा कि इस परियोजना के चालू हो जाने से दिल्ली से कोटा के बीच की दूरी सिर्फ साढ़े तीन घंटे में पूरी हो जायेगी, जबकि दिल्ली-मुंबई के बीच की यात्रा महज 12 घंटे में पूरी हो सकेगी। राजमार्ग मंत्री ने सदन को इस बात की भी जानकारी दी कि दिल्ली-मुंबई मार्ग पर एक विद्युतीय केबल का व्यवहार्यता का भी अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने सांसदों से अनुरोध किया कि वे भी इस परियोजना के धीमी गति से आगे बढ़ने के कारणों का पता लगाएं। उन्होंने कहा कि इस काम में राज्यों की सरकारें आपकी मदद करेंगी कि उन्होंने कितनी भूमि का अधिग्रहण किया है।
प्रतिदिन लगभग 4-5 प्रतिनिधिमंडल मिलने आते हैं
गडकरी ने बताया कि प्रतिदिन लगभग 4-5 प्रतिनिधिमंडल उनसे मिलने आते हैं। वे सभी भूमि अधिग्रहण के लिए अनुरोध करते हैं। उनका कहना था कि भूमि अधिग्रहण के मामले को जिला कलेक्टर देखते हैं और वही जमीनों की खरीद फरोख्त बाजार आधारित फार्मूले के अनुसार तय करते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गंगासागर मेला में स्‍‌थापित की जाएगी मां गंगा की प्रतिमा

दक्षिण 24 परगना : गंगासागर मेला में मां गंगा की प्रतिमा लगाने की तैयारी जोरों से चल रही है। वहीं मेेले में महर्षि कपिल मुनि, आगे पढ़ें »

momota

बंगाल सरकार प्रयोग में नहीं आने वाले हवाईअड्डों का करेगी नवीकरण: ममता

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि राज्य प्रयोग में नहीं आने वाले हवाईअड्डों का नवीकरण कर छोटे विमानों आगे पढ़ें »

ऊपर