जेफ बेजोस के जन्म के समय मां के पास नहीं थे फोन करने तक के पैसे

वॉशिंगटनः अमेजन के संस्‍थापक और सीईओ जेफ बेजोस (55) जो दुनिया के सबसे धनवान व्यत्ति है उनकी कुल कमाई 117 अरब डॉलर (8.19 लाख करोड़ रुपए) है। अब यह जानकर आपको लग रहा होगा कि उनका जन्म एक धनवान घराने में हुआ होगा। लेकिन आपको बता दें कि 1964 में बेजोस के जन्म के वक्त उनकी मां जैकलिन (72) के पास फोन का खर्च उठाने तक के लिए पैसा नहीं थे। अपने भरण-पोषण और बेजोस के लालन-पालन के लिए वह 190 डॉलर (13000 रुपए) महीने की वेतन पर एक टाइपिस्ट की नौकरी करती थीं। जैकलिन ने कैंब्रिज कॉलेज में दिए भाषण में बताया कि 17 साल की उम्र में उन्होंने बेजोस को जन्म दिया ‌था जिसके कारण स्कूल प्रबंधन ने उनकी पढ़ाई पर रोक लगा दी ‌थी। अनेक संघर्ष करने के बाद प्रशासन ने सख्त और अमानवीय शर्तों के साथ उन्हें पढ़ने की स्वीकृति दी।

उन्हीं की क्लास करती थीं जो बेजोस को साथ ले जाने देते थे

बेजोस के जन्म के 17 महीने बाद ही जैकलिन का टेड जॉर्गनसन (जेफ बेजोस के जैविक पिता) से तलाक हो गया था। जैकलिन ने पढ़ाई जारी रखने के लिए नाइट स्कूल में एडमिशन लिया। वे उन प्रोफेसर की क्लास में जाती थीं जो उन्हें बेजोस को साथ लाने की इजाजत देते थे। जैकलिन ने बताया- मेरे पास दो बैग रहते थे, एक में किताबें, डायपर और पानी की बोतल रखती थी। दूसरे में जेफ के खिलौने होते थे।

40 की उम्र में किया ग्रेजुएशन

नाइट क्लासेज में ही जैकलिन की मुलाकात माइक बेजोस से हुई। 1968 में दोनों ने शादी कर ली। इसी बीच जैकलिन को पढ़ाई छोड़नी पड़ी और उनकी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी नहीं हो पाई। जैकलिन बताया कि जब बच्चे कॉलेज जाने लगे तो महसूस हुआ कि आगे की पढ़ाई पूरी करनी चाहिए। इसलिए, हाई स्कूल छोड़ने के 20 साल बाद 40 की उम्र में ग्रेजुएशन की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

घरेलू क्रिकेट में पहली बार सीएबी ने खिलाड़ियों की आंखों की जांच को किया ‘अनिवार्य’

कोलकाता : बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) ने कोविड-19 से जुड़े प्रतिबंधों को हटने के बाद फिर से शिविर लगाने पर अंडर-23 और सीनियर टीम के आगे पढ़ें »

अब वकील भी नहीं नजर आएंगे काले कोट में

कोलकाता : हाईकोर्ट में सामान्य सुनवाई शुरू होने पर अब एडवोकेट ब्लैक कोट और गाउन में नजर नहीं आएंगे। गौरतलब है कि बार काउंसिल ऑफ आगे पढ़ें »

ऊपर