अच्छे दिन आने से पहले ही दिखने लगती हैं ये 5 चीजें

नई दिल्ली : समय किसी के लिए भी हमेशा एक जैसा नहीं रहता है। कभी अच्छा समय चलता है, तो कभी बुरा समय। अच्छे दिन तो हंसी खुशी से बीत जाते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा परेशानी बुरे समय में होती है। एक-एक दिन काटना मुश्किल पड़ जाता है। फिर इंतजार रहता है कि ​कब ये बुरा समय गुजरे और अच्छे दिन फिर आएं। तो आज आपको बताते हैं कि जब आपका अच्छा समय शुरू होने वाला होता है, तो इसके संकेत पहले से ही मिलने लगते हैं।
सपने में पितरों का दर्शन
सपने में पितरों का नजर आना कोई साधारण बात नहीं है। पितरों का स्वप्न दर्शन इंसान का अच्छा समय शुरू होने का संकेत देता है। वो लोग बड़े ही भाग्यवान होते हैं, जिन्हें सपने में पितृ दिखाई देते हैं। यह इस बात का साक्ष्य है कि पितरों का आशीर्वाद आप पर बना हुआ है। हालांकि पितरों का अच्छी मुद्रा में दिखना भी जरूरी है। जैसे- सपने में पितरों का मुस्कुराते हुए दिखना, आशीर्वाद के स्वरूप में दिखना या प्रसन्न मुद्रा में कोई मंत्र या बात करना आदि।
पशु पक्षी
अगर आप जीवन में किसी कठिन दौर का सामना कर रहे हैं या बहुत असमंजस में हैं, तब पशु-पक्षियों का दिखना, उनका घर के द्वार पर आना बहुत ही अच्छा और शुभ संकेत होता है। अगर गौरैया या चिड़िया आपके घर में प्रवेश कर लेती है और वहां कुछ समय तक ठहरती है तो इसे बहुत ही शुभ संकेत समझा जाता है। यह जीवन में सकारात्मक बदलाव का संकेत है। जीवन में चल रही परेशानियां जल्दी ही दूर होने वाली हैं। प्रत्येक मोर्चे पर सफलता मिलेगी। जीवन में लाभ और उन्नति के अवसर प्राप्त होंगे।
भक्ति के दौरान आंखों में आंसू
अक्सर मंदिर में जाते ही लोगों की आंखों से अश्वधारा बहने लगती है। ईश्वर की भक्ति में लीन लोगों की आखों से आंसू निकलने लगते हैं। ईश्वर से एक खास तरह का जुड़ाव महसूस होने लगता है। यह इस बात का संकेत है कि ईश्वर ने स्वयं आपको पुकारा है। ईश्वर चाहते हैं कि आप मंदिर आएं, उनके दर्शन करें और पूजा-पाठ के बाद आशीर्वाद लें। ऐसा अक्सर तब होता है, जब इंसान बहुत ज्यादा परेशान होता है और उसे इन मुसीबतों से बाहर आने का कोई रास्ता दिखाई नहीं देता है।
साधु संतों का दर्शन
यदि साधु संत के दर्शन आपको हो जाएं तो समझ लीजिए बहुत जल्द आपकी सोई किस्मत जागने वाली है। इन्हें ईश्वर द्वारा भेजा गया देवदूत माना जाता है। यह आपके जीवन को एक नई दिशा प्रदान कर सकते हैं। आपको जिन समस्याओं ने घेरा हुआ था, वो जल्दी ही टलने वाली हैं। यदि आपका मन साधू संतों की तप भूमि पर जाने का है तो इसे भी एक शुभ संकेत ही समझें।
अंतर्मन की पुकार सुनना
कई बार इंसान असमंजस में फंस जाता है। उसे समझ ही नहीं आता कि इससे बाहर कैसे निकला जाए। तब ईश्वरीय विधान आपके मन में प्रवेश करता है। इसके बाद आपका अंतर्मन अंदर से पुकारने लगता है। आप धीरे-धीरे समझने लगते हैं कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं। जब आपका अंतर्मन अचानक से ऐसे सुझाव देने लगे, जिसके बारे में आपने पहले सोचा ही नहीं था तो समझ लीजिए ईश्वर आपके साथ है। और आप दृढ़ता के साथ कोई निर्णय लेकर सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

रिसड़ा में धूमधाम से हुआ भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन

रिसड़ा : रिसड़ा विद्यापीठ एलुमनी वेलफेयर एसोसिएशन एवं राष्ट्रीय कवि संगम के संयुक्त तत्वावधान में महादेवी वर्मा के जन्मदिन पर रिसड़ा विद्यापीठ प्रांगण में कवि आगे पढ़ें »

मेट्रो लाइन पर तेज आवाज ! छुट्टी के दिन सेवाएं बाधित, यात्री परेशान

कोलकाता : रविवार को मेट्रो सेवाएं बाधित रहीं। शोभाबाजार से श्यामबाजार जाने के दौरान एक ट्रेन के चालक ने लाइन पर तेज आवाज सुनी। तब आगे पढ़ें »

ऊपर