जेठालाल के गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स को लग जाएगा ताला? कोरोना की वजह से लगा बड़ा झटका

मुंबईः सोनी सब टीवी के शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में हम देख सकते है, जहा हर कोई इस नए साल का बेसब्री से इंतजार कर रहा था, वहीं नए साल की शुरुआत जेठालाल के लिए कुछ खास अच्छी नहीं हुई है। शुरुआत में ही उनकी प्यारी बबिता जी उन से खफा हो गई। दूसरी तरफ दया भी लौट आने का नाम नहीं ले रही है। अब तो गड़ा इलेक्ट्रॉनिक को ही ताला लगाने की नौबत जेठालाल पर आ गई है। दरअसल साल 2020 में पूरी दुनिया का बहुत ज्यादा नुक्सान हुआ है। कोरोना महामारी की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण कई लोगो को अपनी नौकरियां खोनी पड़ी तो वहीं कई लोगों को अपने व्यवसाय में नुकसान भी झेलना पड़ा।

लॉकडाउन की वजह से त्रस्त

जेठालाल भी इसी लॉकडाउन की वजह से त्रस्त हो गए हैं। उनका गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स के बिज़नेस को भी कोरोना महामारी और लॉकडाउन के काफी ज्यादा नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल लॉकडाउन में जेठालाल ने एक व्यापारी को सिर्फ क्रेडिट पर बड़ा आर्डर डिलिवर किया था। बाद में दुकान बंद रहने के कारण उनकी पेमेंट भी अटक गई थी। अब लॉकडाउन खुलने के कुछ दिनों बाद जब जेठालाल उस व्यापारी को पेमेंट के लिए फोन करते है लेकिन वो व्यापारी जेठालाल को पेमेंट देने से साफ इंकार कर देता है।
बढ़ गई हैं जेठालाल की मुश्किलें

इतना ही नहीं बल्कि वो व्यापारी जेठालाल को खुद के नुकसान के लिए भी जिम्मेदार ठहराता है। एक तरफ, लॉकडाउन के पहले जेठालाल ने दुकान में जो सामान भर रखा था उसका पेमेंट उन्हें खुद करना पड़ा है। दूसरी तरफ लॉकडाउन के दौरान जो क्रेडिट पर सामान बेचना पड़ा उसका पैसा मिलाना भी अब मुश्किल हो गया है। इन सारी मुश्किलों की वजह से गड़ा इलेक्ट्रॉनिक्स घाटें में चल रहा है। अब, क्या जेठालाल के दुकान पर लगेगा ताला और क्या गवानी पड़ेगी नट्टूकाका और बाघा को अपनी नौकरियां ये देखना दिलचस्प होगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

rape

बुजुर्ग तांत्रिक ने नाबालिग बच्ची के साथ किया दुष्कर्म,‌ फिर…

अमरोहाः उत्तर प्रदेश के अमरोहा से एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बच्ची के साथ आगे पढ़ें »

जब मनचले ने लेडी पुल‍िस से कहा, ‘इतनी पतली हो, रायफल कैसे संभालती हो!

फरीदपुरः उत्तर प्रदेश में महिलाओं से छेड़छाड़ के मामले दिन रोज बढ़ रहे है। अब तो मनचले बदमाशों का इतना साहस बढ़ गया है कि आगे पढ़ें »

ऊपर