सोनाक्षी सिन्हा नहीं करेंगी धर्म परिवर्तन, स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत होगी रजिस्टर, जानिए क्या है यह किस पर लागू होता है?

शेयर करे

नई दिल्ली: सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल एक साथ नई जिंदगी शुरू करने जा रहे हैं। आज दोनों शादी के बंधन में बंध जाएंगे। शुरुआत से ही इस बात को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि सोनाक्षी और जहीर की शादी हिंदू रीति रिवाज से होगी या मुस्लिम रीति रिवाज से। हालांकि, सोनाक्षी के होने वाले ससुर इकबाल रतनसी ने उन अटकलों पर विराम लगा दिया। उन्होंने कहा कि सोनाक्षी और जहीर की शादी किसी भी धार्मिक नियम का पालन नहीं कर रही है। सूत्रों के मुताबिक मुस्लिम परिवार में शादी के बावजूद भी सोनाक्षी अपना धर्म नहीं बदलेंगी। सोनाक्षी-जहीर की शादी ‘स्पेशल मैरिज एक्ट’ के तहत होगी। इससे पहले एक्ट्रेस स्वरा भास्कर और समाजवादी पार्टी के युवा नेता फहद अहमद ने भी इसी कानून के तहत शादी की थी।

विशेष विवाह कानून क्या है?

भारत में तीन प्रकार के विवाह कानून हैं। 1) हिंदू विवाह अधिनियम 2) मुस्लिम विवाह अधिनियम और 3) विशेष विवाह अधिनियम। यह विशेष विवाह अधिनियम 9 अक्टूबर 1954 को संसद में पारित किया गया था। यह कानून बिना किसी धार्मिक रीति-रिवाज के शादी करने का अधिकार देता है। यह कानून धर्मांतरण की बात नहीं करता। कोई भी व्यक्ति अपनी धार्मिक पहचान बदले बिना शादी कर सकता है।

यह भी पढ़ें: सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल की शादी से पहले ये खास तस्वीर आई सामने

इस कानून के तहत कौन शादी कर सकता है?

इस अधिनियम के तहत सभी भारतीय नागरिक, चाहे वे किसी भी जाति और धर्म के हों, विवाह कर सकते हैं। यहां तक ​​कि जो लोग खुद को धार्मिक पहचान से बाहर रखना चाहते हैं उन्हें भी इस कानून के तहत शादी करने का अधिकार दिया गया है।

इस कानून के तहत शादी करने की क्या प्रक्रियाएं हैं?

इस कानून के तहत शादी के लिए कुछ नियम हैं। सबसे पहले, होने वाले जोड़े को शादी से कम से कम एक महीने पहले विवाह रजिस्ट्री अधिकारी को वैध दस्तावेजों के साथ एक आवेदन जमा करना होगा। आवेदन ऑनलाइन भी किया जा सकता है। इस संबंध में संबंधित वेबसाइट पर आवेदन किया जा सकता है। हालांकि, ऑनलाइन आवेदन करने पर भी, दूल्हा और दुल्हन दोनों को रजिस्ट्री कार्यालय जाना अनिवार्य है। वर और वधू दोनों के दस्तावेजों का सत्यापन करने के बाद आवेदन स्वीकृत किया जाता है और वह पत्र दोनों सदनों में पहुंचा दिया गया। रजिस्ट्री के दिन दोनों पक्षों को वह पत्र अपने पास रखना होगा। दूल्हा और दुल्हन दोनों तीन गवाहों की उपस्थिति में विवाह रजिस्ट्री पर हस्ताक्षर करते हैं।

Visited 2,298 times, 2 visit(s) today
1
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : सीएम ममता बनर्जी राज्यपाल पर खूब बरसीं। उन्होंने कहा लाइन मानकर चलिए लाइन से बाहर नहीं। याद रखिए
नई दिल्ली :  मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के पहले आम बजट को पेश करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला
नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तीसरी बार बनी सरकार ने अपना पहला बजट पेश कर दिया
नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट पेश कर रही हैं। उन्होंने कहा, 'भारत की जनता ने
कोलकाता : विधायकों के शपथ ग्रहण को लेकर विधानसभा और राजभवन के बीच तकरार जारी है। स्पीकर विमान बनर्जी ने
बर्दवान : शक्तिगढ़ के प्रसिद्ध लेंग्चा दुकानों में बासी लेंग्चा, मिठाइयां बेचे जाने के विरुद्ध स्वास्थ्य विभाग, जिला पुलिस, क्रेता
कोलकाता: नीति आयोग की बैठक से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकती हैं। राज्य की सभी
कोलकाता : सप्ताह में मंगलवार का दिन संकट मोचन बजरंगबली को समर्पित होता है। इस दिन उनकी पूजा अर्चना करने
कोलकाता : तृणमूल से चारों नवनिर्वाचित विधायक पहुंचे विधानसभा। शपथ समारोह के लिए प्रक्रिया शुरू। कल चारों विधानसभा में ही
कोलकाता : कहते हैं भगवान शिव काफी भोले होते हैं। वह भक्तों के जरा से प्रयासों से भी खुश हो
कोलकाता : 22 जुलाई से सावन का पावन महीना शुरू हो रहा है। इस साल सावन की शुरुआत सोमवार से
मुख्य बातें एयरपोर्ट यात्री ध्यान दें घर से निकलने से पहले बोर्डिंग पास निकाल लें एयरपोर्ट पर मौजूद एयरलाइंस के
ऊपर