सन्मार्ग Exclusive : ‘प्रसेनजीत वेड्स रितुपर्णा’ देगी फुल एंटरटेनमेंट का डोज

पैंडमिक सिचुएशन के बाद लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिये यह मूवी बेस्ट है-प्रसे​नजीत
मूवी स्टार कास्ट
प्रसेनजीत चटर्जी
रितुपर्णा सेनगुप्ता
ऋषभ बसु
इप्शिता मुखर्जी
पल्लवी चटर्जी
कोलकाताः बंगला और हिंदी सिनेमा में अपनी अहम भूमिका के लिए पहचाने जाने वाले ‘बुम्बा दा’ अका अभिनेता प्रसेनजीत चटर्जी की मूवी ‘प्रसेनजीत वेड्स रितुपर्णा’ शुक्रवार यानी 25 नवंबर को बड़े पर्दे पर रिलीज होने जा रही है। बंगाल के दर्शक टॉलीवुड के प्रसेनजीत और रितुपर्णा की जोड़ी को शाहरुख और काजोल की जोड़ी के तर्ज पर देखते हैं। दोनों की जोड़ी ने आज तक 49 फिल्में एक साथ की है और अब ‘प्रसेनजीत वेड्स रितुपर्णा’ इनकी 50वीं फिल्म होगी। 90 के दशक से अब तक प्रसेनजीत और रितुपर्णा की जोड़ी लगातार अपने फैंस के दिलों पर राज कर रही है। चूंकि यह मूवी इस कपल की 50वीं मूवी है तो कुछ अलग, कुछ हटकर तो बनना ही था, तो मूवी में क्या कुछ है जानने के लिये सन्मार्ग की टीम ने बंगला फिल्मों के सुपरस्टार प्रसेनजीत से खास बातचीत की। पेश है बातचीत के मुख्य अंश-
प्रः मूवी को लेकर क्या उम्मीदें हैं?
उः यह मूवी रोम कोम है। फिल्म में लव स्टोरी भी है और कॉमेडी भी। जैसा कि मूवी का नाम है ‘प्रसेनजीत वेड्स रितुपर्णा’ लेकिन मूवी में मैं और रितुपर्णा- दोनों ने ही गेस्ट अपीयरेंस दिया है। फिल्म में एक यंग कपल की कहानी को दिखाया गया है। मैंने और रितुपर्णा ने कई वर्षों तक मूवी नहीं की लेकिन जब हमने 14 साल बाद प्राक्तन नामक मूवी एक साथ आये तो दर्शकों ने पहला ही शो हाउसफुल करा दिया और अब हमने इसी प्रसेनजीत और रितुपर्णा के मैजिक को बड़े पर्दे दोबारा दिखाने की सोची। जब निर्देशक ने मुझे मूवी की स्क्रिप्ट सुनायी तो मैंने झट से हां कह दिया और वह भी इसलिये क्योंकि मुझे लगा कि दो साल के पैंडमिक सिचुएशन के बाद लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिये यह मूवी बेस्ट है क्याेंकि यह लाइट हार्टेड मूवी है। इस पूरी मूवी में मुझे यानी ‘प्रसेनजीत चटर्जी’ को खूब रोस्ट किया गया है। लोग अक्सर मुझे लेकर मीम्स बनाते हैं, मेरे डांस के स्‍टेप्स को लेकर वीडियोज बनाते हैं और मैं इसे एन्जॉय करता हूं। जिस तरह सिने प्रेमियों के लिये बॉलीवुड मूवी ‘दिलवाले दुल्हनिया’ ले जायेंगे एवरग्रीन है, उसी तरह टॉलीवुड में ‘ससुर बाड़ी जिंदाबाद’ है और इसी मूवी का ‘चोख तूले देखो ना’ गाना आज भी शादियों में प्लेलिस्ट में रहता है। ‘प्रसेनजीत वेड्स रितुपर्णा’ के निर्देशक सम्राट शर्मा ने जब यह मूवी बनायी तो उनका एक ही उद्देश्य था कि वे जिस मूवी और गाने को सुनकर बड़े हुए हैं उस मूवी को ही ‘प्रोसेनजीत वेड्स रितुपर्णा’ डेडिकेट करेंगे। ‘चोख तूले देखो ना’ को हमने रिक्रिएट किया और उसका हुक स्‍टेप अब वायरल हो रहा है।
प्रः खुद को मॉक किया है आपने इस मूवी में, यह किरदार निभाना कैसा रहा?
उ. जैसा कि आपने ट्रेलर में देखा होगा कि मूवी में एक्टर ने कहा है ‘Ki aache oi 60 bochorer lok ta te’, ‘की आछे ओइ 60 बोछोरेर लोक टा ते’ क्या है उसे 60 साल के इंसान में, उसी दौरान चोख-चोख की जो आवाज आती है और वही वाउ फैक्टर है। यानी ‘चोख तूले देखो ना’ ही वह फैक्‍टर है। पूरी फिल्म में भरपूर कॉमेडी है। लोगों को लगेगा कि मूवी के प्रोड्यूसर और प्रेज़ेंटर दोनों ही प्रसेनजीत हैं तो मैं उनके लिये कहना चाहता हूं कि मुझे ट्रेंडसेटर बनने में बड़ा मजा आता है। जो हमेशा होता है उससे कुछ हटकर करने में मुझे बड़ा मजा आता है।
प्रः रितुपर्णा सेनगुप्ता के साथ आपकी ऑफस्क्रीन केमेस्ट्री कैसी है?
उः रितुपर्णा के साथ मैं 30 साल से काम कर रहा हूं। मेरी उनके साथ क्या केमेस्ट्री है, इस सवाल का जवाब मैं अपने दर्शकों से मांगता हूं। जब मैं और रितुपर्णा 70 साल के भी हो जायें और हमारी मूवी आये तो दर्शकों को हॉल में जाकर जरूर मूवी को देखनी चाहिये (इसलिये हमारी केमेस्ट्री को हम शब्दों में बयां नहीं कर सकते हैं )।
प्रः यूथ से मूवी को लेकर क्या कहेंगे?
उः युवाओं से मेरा यही कहना है कि फिल्म में हमने बहुत ही प्योर लव स्टोरी को दर्शाया है। छोटी-छोटी चीजों को फिल्म में गहरायी से दिखाया गया है। इसके साथ ही मैंने मूवी में इस कांसेप्ट को तोड़ने की कोशिश की है कि जरूरी नहीं है कि हीरोइन हमेशा जीरो फिगर वाली हो। मूवी में युवाओं की डेली लाइफ को दर्शाया गया है जिससे वे रिलेट करेंगे। प्रसेनजीत के प्रति कोलकाता के लोगों के प्यार को भी मूवी में दिखाया गया है और सबसे बड़ी बात यह है कि यहां मुझसे लोगों को इतना प्यार है कि वे मुझे ‘बुम्बा दा’ के नाम से बुलाते हैं। मेरा मानना है कि लोग मुझे अपने परिवार का सदस्य मानते हैं और मैंने इसी प्यार को युवाओं को दिखाने की कोशिश की है। फिल्म में गाने भी आपको बहुत पसंद आएंगे।
प्रः बिहाइंड द सीन की कुछ बातों के बारे में हमारे दर्शकों को कुछ बताना चाहेंगे ?
उः किस्से तो काफी हैं लेकिन मैं एक किस्सा आपसे जरूर साझा करना चाहूंगा। मैं जब भी फ्री होता था तो सेट पर चला जाता था लेकिन एक दिन जब मैं सेट पर गया तो मैंने देखा 10-15 मिनट बीत गये लेकिन शूट शुरू नहीं हुआ। तब मैंने निर्देशक से पूछा कि कोई गड़बड़ है क्या, तो पीछे से बड़ी फुसफुसाहट होने लगी। जब मेरे पास जानकारी आयी तो पता चला कि उस शूट में फिल्म का हीरो मुझे ही गाली देने वाला था और ऐसे में वह मेरे सामने शूट करने से कतरा रहा था तो मेरे साथी ने मुझसे कहा कि आप यहां से चले जाइये क्योंकि हीरो कतरा रहा है और उसी समय मैंने पैकअप किया और वहां से चलता बना।

– कल्पना सिंह

देखें तस्वीरें

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिसम्बर में मनाऊंगा विजया सम्मिलनी, बांटूंगा लड्डू : शुभेंदु

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर के लाइटहाउस ग्राउंड में भाजपा की सभा को संबोधित करते हुए विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्य आगे पढ़ें »

डायमण्ड हार्बर में शुभेंदु की सभा से पहले हंगामा, घरों व वाहनों में आगजनी

कांथी में अवरोध करने में मुझे 3 सेकेंड लगते : शुभेंदु सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी की सभा आगे पढ़ें »

ऊपर