रानी मुखर्जी की फिल्म मर्दानी 2 का विरोध,शहर को बदनाम करने का आरोप

Mardani 2, Rani mukherjee

नई दिल्ली : बॉलीवुड अभिनेत्री रानी मुखर्जी की अगली फिल्म मर्दानी 2 का ट्रेलर विवादों में घिर गया है। इस फिल्म के ट्रेलर के आधार पर कोटा के लोगों ने विरोध शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि इस फिल्म में कोटा शहर की छवि को गलत ढंग से प्रस्तुत किया गया है। इन लोगों ने रानी मुखर्जी की आगामी फिल्म में कोटा शहर को बदनाम किए जाने को लेकर लोकसभा अध्यक्ष और कोटा से सांसद ओम बिरला से भी मुलाकात की है।

फिल्म को बताया गया सच्ची घटनाओं पर आधारित

फिल्म पर आपत्त‌ि जताते हुए विरोध में उतरे इन लोगों का कहना है कि कोटा को शिक्षा के केंद्र के रूप में जाना जाता है। शहर से सटे इलाकों में कई शैक्षणिक संस्‍थान हैं। गुरूवार को रिलीज ‌किए गए इस फिल्म के ट्रेलर में ऐसी बात कही गयी है जो कि कोटा शहर की विरासत के खिलाफ है। एक सीरियल रेपिस्ट और हत्यारे को दिखाया गया है जो काेटा पढ़ने आई युवा लड़कियों को निशाना बनाता है। साथ ही यह उल्लेख किया गया है कि फिल्म सच्ची घटनाओं पर आधारित है।

शहर की बदनामी है अस्वीकार्य

सूत्रों के अनुसार प्रदर्शनकारियों से मुलाकात के बाद लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा कि इस मुद्दे पर संबंधित लोगों के साथ चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा, ‘सिनेमा के माध्यम से शहर के नाम को बदनाम करना अस्वीकार्य है। काल्पनिक कहानी में शहर के नाम का साफ तौर पर उल्लेख किया जाना उचित नहीं है।

शूटिंग के चलते कई दिनों तक कोटा में थी रानी

रानी मुखर्जी द्वारा अभिनीत फिल्म मर्दानी 2 यशराज प्रोडक्शन के तहत बनी है। इसमें अभिनेत्री शिवानी शिवाजी रॉय नामक एक पुलिस अधिकारी के दमदार किरदार में दिखाई देंगी। इसके ट्रेलर में उन्हें दो दिनों में सीरियल रेपिस्ट को पकड़ने की कसम खाते देखा जा सकता है। गुरुवार को ट्रेलर सामने आने के कुछ देर बाद ही कोटा के लोगों ने फिल्म से कोटा शहर का नाम हटाए जाने की मांग को लेकर विरोध्‍ा प्रदर्शन शुरू कर दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अपराध

कटारिया स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर युवक की मौत

भागलपुर : बिहार में पूर्व-मध्य रेलवे के बरौनी-कटिहार रेलखंड के कटारिया स्टेशन के निकट मंगलवार को ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत हो गयी। नवगछिया आगे पढ़ें »

विद्यापति की शृंगारिक रचनाओं के नायक-नायिका समाज को पढ़ाते हैं मर्यादा का पाठ

दरभंगा : मैथिली के प्रसिद्ध विद्वान एवं लेखक डॉ. शांतिनाथ सिंह ठाकुर ने मैथिली भाषा के विकास में महाकवि विद्यापति की शृंगारिक रचनाओं के जबरदस्त आगे पढ़ें »

ऊपर