15 अगस्त के लिए एडवांस में बनाया राजू श्रीवास्तव का एक वीडियो आया सामने

दिल्ली: राजू श्रीवास्तव का जाना हर किसी के लिए एक बड़ क्षति है। गजोधर भैया के नाम से मशहूर राजू श्रीवास्तव का एक वीडियो सामने आया है, जिसे देखकर हर कोई मौन हो गया है। बेहद जोशीले और निराले अंदाज के साथ राजू ने इस वीडियो को 15 अगस्त पर शेयर करने के लिए एडवांस में बनाया था, लेकिन बदकिस्मती से 10 अगस्त को ही उन्हें कार्डियक अरेस्ट आ गया और ये वीडियो वो पोस्ट ही नहीं कर सके।

ये राजू श्रीवास्तव का वो आखिरी वीडियो जो उन्होंने बहुत जोश के साथ आने वाले 15 अगस्त के 75वें आजादी के अमृत महोत्सव के लिए एडवांस में बनवाया था। लेकिन, वो उसे शेयर नहीं कर पाए। वीडियो में राजू तिरंगे के लिए अपना प्यार जताते नजर आ रहे हैं। इस क्लिप को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो कितने बड़े देश भक्त थे और उन्हें तिरंगे के किस कदर लगाव था। साथ ही, वीडियो में साफ देख सकते हैं कि उनके दिल में तिरंगे के लिए कितनी इज्जत है।

राजू श्रीवास्तव खुद को गर्व से देशभक्त कहते थे

वीडियो में राजू श्रीवास्तव कह रहे हैं कि दोस्तों मेरा भी दिल कर रहा है कि “मैं भी तिरंगे वाली डीपी लगाऊं, गर्व के साथ लगाऊं, हमारा देश है और देश आजाद हुआ है 15 अगस्त को। तिरंगे वाली डीपी मैं लगाऊंगा लेकिन ये सोच के दुख होता है कि मैं ये डीपी हटाऊंगा कैसे। इसके आगे राजू कहते हैं कि मेरी ये औकात नहीं है कि मैं तिरंगे वाली डीपी हटा सकूं। मैं भी एक देशभक्त हूं आपकी तरह।”

खबर ने अनुसार राजू श्रीवास्तव का अंतिम संस्कार कल सुबह किया जाएगा। दिल्ली के निगम बोध घाट के वीआईपी सेक्शन में उन्हें मुखाग्नि दी जाएगी। कुछ देर पहले ही राजू के पार्थिव शरीर को एम्स अस्पताल से दिल्ली के द्वारका लाया गया है। जिसके बाद अब कल सुबह द्वारका से निगम बोध घाट में उन्हें अंतिम बार अलविदा कहा जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर