‘मेरी किस्मत में किसी मर्द का प्यार नहीं’

मुम्बई : बॉलीवुड अभिनेत्री मनीषा कोइराला को सिनेमाई पर्दे पर लाखों लोगों का प्यार मिला, लेकिन असल जिंदगी में वह एकदम तन्हा हैं। इस बात में कोई दोराय नहीं कि हर कोई एक सुखी वैवाहिक जीवन की कल्पना करता है। शादी करने से पहले किसी को इस बात की खबर नहीं होती है उनका रिश्ता कितने दिन, कितने महीने या फिर कितने साल चलने वाला है। दो लोग जब साथ आते हैं, तो वह हमेशा इसी कोशिश में होते हैं कि उनकी शादीशुदा जिंदगी की गाड़ी हमेशा पटरी पर चलती रहे। लेकिन वो कहते हैं ना कि भाग्य के आगे किसी का बस नहीं चलता। शुरुआत में जो पार्टनर आपको अच्छा लगता है, उसके साथ परेशानियों का सिलसिला तब शुरू होता है, जब गृहस्थ जीवन की जिम्मेदारियां अपने पैर पसारने लगती हैं। तब लोगों को समझ आता है कि वह शादीशुदा जिंदगी के लिए नहीं बने हैं। 90 के दशक की सबसे सफल अभिनेत्री मनीषा कोइराला भी उन्हीं में से एक हैं, जिन्होंने न केवल टूटी शादी देखी, बल्कि अपने दिल के दरवाजे इस कदर बंद किए कि वह आज तन्हा जिंदगी जीने को मजबूर हैं।
दो साल भी नहीं चली शादी
मनीषा कोइराला ने 19 जून 2010 को नेपाली बिजनेसमैन सम्राट दहल से शादी की थी, जो दो साल भी मुश्किल से नहीं चल पाई। शादी के कुछ समय बाद से ही मनीषा और उनके पति में अनबन होने लगी थी। शादी के छह महीने बाद ही उन्होंने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर लिखा था कि उनका सबसे बड़ा दुश्मन उनका पति है, जिसके साथ वह नहीं रहना चाहती हैं। यही नहीं, दो साल की शादी में दोनों के बीच मतभेद इतने बढ़ गए थे कि उन्होंने इस शादी को तुरंत खत्म करने का फैसला कर लिया था। हालांकि, अपनी टूटी शादी पर मनीषा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि वह अपने तलाक के लिए खुद जिम्मेदार हैं।
‘मेरी किस्मत में किसी मर्द का प्यार नहीं’
अपनी तलाकशुदा जिंदगी पर बात करते हुए मनीषा ने बताया था कि, ‘मेरा शादी को लेकर एक अलग विचार था। मैं शादी करना चाहती थी और शादीशुदा जिंदगी में रहते हुए मुझे इस बात का एहसास हुआ कि मैं इसके लिए नहीं बनी हूं। यदि आप एक खराब रिश्ते में हैं, तो उससे अलग हो जाना बेहतर है। मेरे दिल में सम्राट के लिए कोई कड़वाहट नहीं है। मैं जल्दबाजी में शादी करने के लिए खुद को जिम्मेदार मानती हूं। यह पूरी तरह से मेरी गलती मेरी है।’
यही नहीं, साल 2012 में तलाक के बाद मनीषा की सेहत लगातार गिरने लगी थी, जिसके बाद उन्हें कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का पता चला था। हालांकि, इलाज के बाद मनीषा बिल्कुल ठीक हो गई हैं। लेकिन टूटी शादी का मलाल उन्हें आज भी घेरे हुए है, जिस पर बात करते हुए उन्होंने कहा था कि, ‘मैं उस समय टूट गई जब मेरी शादी टूटी थी और फिर मुझे कैंसर का पता चला। प्यार मेरी किस्मत में नहीं है। किसी गलत रिश्ते में पड़ने से बेहतर है कि मैं इस कड़वे सच को स्वीकार कर लूं। मैं अब किसी भी आदमी को खुद को दुखी करने की इजाजत नहीं दूंगी।’ मनीषा कोइराला पहली नहीं हैं, जिन्हें जल्दबाजी में शादी करने का पछतावा हो, बल्कि आज भी ऐसे कई लोग हमारे आसपास मौजूद हैं, जो अपने एक गलत कदम का भार उठा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड के बीच आज छठवें चरण का मतदान

कई मंत्री व हेवीवेट उम्मीदवारों के लिए अहम चुनाव निर्णायक भूमिका में होंगे हिन्दीभाषी मतदाता सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच गुरुवार आगे पढ़ें »

कमिंस-रसेल के अर्धशतक बेकार, केकेआर की लगातार तीसरी हार

कोलकाता को 18 रन से हरा चेन्नई ने लगाई जीत की हैट्रिक मुंबई : आईपीएल 2021 के 15वें मैच चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने कोलकाता नाइट आगे पढ़ें »

ऊपर