इस शख्स की वजह से दयाबेन ने छोड़ा ‘तारक मेहता’, ऐसे होती है तरकीब फेल

मुंबईः टीवी की दुनिया में लोगों के दिलों पर राज करने वाला शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में कुछ भी बदलाव होते हैं तो फैंस को पता चल जाता है। इस शो के हर कैरेक्टर को लोगों ने खूब प्यार दिया है। फिर वो चाहे गोकुलधाम का कोई भी परिवार क्यो ना हो, लेकिन फिर भी लोगों का ध्यान सबसे ज्यादा जेठालाल की फैमिली पर जाता है, क्योंकि इस परिवार का हर सदस्य एक-दूजे से अलग है और इस परिवार की जान है दयाबेन, लेकिन पिछले कई सालों से दयाबेन शो से गायब है और इसके पीछे की वजह एक शख्स है। टीवी सीरियल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की दयाबेन को किसी पहचान की जरूरत नहीं है। टीवी की दुनिया में दयाबेन का नाम ही काफी है। बीते कई सालों से दयाबेन छोटे पर्दे पर राज कर रही है। आज यही दयाबेन यानी दिशा वकानी अपना जन्मदिन मना रही हैं। आज दिशा वकानी 44 साल की हो गई हैं। तारक मेहता का उल्टा चश्मा में काम करने से पहले दिशा वकानी ने गुजराती थिएटर और हिंदी फिल्मों में भी काम किया है। हालांकि दिशा वकानी को असली पहचान सीरियल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के जरिए ही मिली।

फैंस कर रहे मिस

फिलहाल दिशा वकानी ने ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ से भी दूरी बना ली है। बीते कई सालों से दिशा वकानी को ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में नहीं देखा गया है। माना जाता है कि दिशा वकानी ने ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को छोड़ दिया है। वहीं फैंस आज भी दिशा वकानी का इंतजार कर रहे हैं। आज भी लोग ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में दयाबेन को मिस करते हैं।

पति लेते हैं फैसले

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जाता है कि दिशा वकानी ने अपने पति मयूर पांडिया की वजह से ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को छोड़ा था। साल 2019 में खबर आई थी कि ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के प्रोड्यूसर्स दिशा वकानी को वापस लाने की तैयारी कर रहे हैं। इस दौरान दिशा वकानी की जगह असित मोदी से उनके पति ने बात की। मयूर शादी के बाद दिशा वकानी की जिंदगी के फैसले लेने लगे थे, जिसकी वजह से दिशा वकानी और ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के मेकर्स के बीच गलतफहमी हो गई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दुर्गापूजा के रंग में बारिश ने डाला भंग

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि आज षष्ठी के साथ ही महानगर में बारिश की शुरुआत हो गयी है। मालूम आगे पढ़ें »

‘नीतीश या लालू नहीं… इस बार बिहार की जनता चाहती है बदलाव’

बिहार : बिहार में वैकल्पिक राजनीति की बात करने वाले प्रशांत किशोर 2 अक्टूबर गांधी जयंती से बिहार में प्रदेशव्यापी जन सूरज पदयात्रा शुरू करने आगे पढ़ें »

ऊपर