क्रूज ड्रग्स केस में बड़ा ट्विस्ट: आर्यन को फंसाया गया…

मुंबईः मुंबई क्रूज ड्रग्स केस में एक गवाह विजय पगारे ने मुंबई पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम को बयान दिया है कि 2 अक्टूबर को क्रूज पर की गई रेड प्री-प्लान्ड थी और शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को कुछ लोगों ने इसलिए फंसाया ताकि इससे मोटा पैसा बनाया जा सके। बयान 4 नवंबर को दर्ज कराया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विजय पगारे ने पुलिस को बताया कि वह पिछले कुछ महीनों से सुनील पाटिल नाम के एक शख्स के साथ रह रहा था। उसे पाटिल से कुछ रुपयों की उगाही करनी थी इसलिए उसने आर्यन खान केस को अपने सामने होते हुए देखा। इस केस से सुनील पाटिल का नाम शनिवार को जुड़ा जब महाराष्ट्र के भाजपा लीडर मोहित कंबोज ने कहा कि पाटिल इस केस का मास्टरमाइंड है और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेताओं का करीबी है।
पगारे ने बताया कि उसने 2018 में सुनील पाटिल को एक काम करने के लिए पैसे दिए थे, लेकिन उसने वह काम नहीं किया और पैसा भी नहीं लौटा रहा था, इसलिए पगारे ने सुनील का पीछा करना शुरू किया। अहमदाबाद, सूरत और मुंबई के ललित होटल और फॉर्च्यून होटलों में पगारे सुनील पाटिल के साथ था।होटल में गोसावी और भानुशाली से मिला था पाटिलपगारे के मुताबिक, सुनील पाटिल 27 सितंबर को नवी मुंबई में फॉर्च्यून होटल में रुका था। इसी होटल में केपी गोसावी के नाम पर भी एक रूम बुक था। रेड से कुछ दिन पहले होटल में भाजपा कार्यकर्ता मनीष भानुशाली ने केपी गोसावी और सुनील पाटिल से मुलाकात की। होटल के कमरे में मनीष भानुशाली ने सुनील पाटिल को किस करते हुए कहा- बड़ा काम हो गया। अब हमें अहमदाबाद के लिए निकलना है, लेकिन पगारे को अपने साथ लेकर मत चलना। पगारे ने बताया कि इस समय उसे पता नहीं था कि किस बारे में बात हो रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जवाद चक्रवात : हावड़ा प्रशासन अलर्ट पर, जायजा लेने पहुंचे मंत्री

हावड़ा फेरी परिसेवा अस्थायी तौर पर बंद, कई ट्रेनें रद्द हावड़ा : जवाद को लेकर राज्य समेत हावड़ा में बारिश शुरू हो चुकी है। रविवार की आगे पढ़ें »

ऊपर