अनुष्का ने बेबी बंप के साथ दिया मैगजीन के कवर पेज के लिए पोज, देखें तस्वीरें

नई दिल्लीः अगले महीने मां बनने जा रहीं बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री अनुष्का शर्मा ने बेबी बंप के साथ एक मैगजीन के कवर पेज के लिए पोज दिया है। इसके साथ ही अनुष्का शर्मा ने मैगजीन से अपनी प्रेगनेंसी के एक्सपीरियंस को लेकर बात की है। अनुष्का ने मैगजीन से बात करते हुए बताया कि कैसे उन्हें इस दौरान दोस्तों का सपोर्ट मिला है और वह अपने बच्चे को कैसा देखना चाहती हैं। अनुष्का शर्मा ने मैगजीन का कवर पेज खुद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है। कवर पेज शेयर करते हुए अनुष्का शर्मा ने लिखा है, ‘अपने लिए और पूरी जिंदगी के लिए इसे कैप्चर किया। यह मजेदार रहा।’ कवर पेज पर छपी फोटो में अनुष्का शर्मा ने ब्रेलेट पहना हुआ है और पैंट पहनी है। इसके अलावा क्रीम कलर का कोट भी उन्होंने पहन रखा है। अनुष्का शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन के चलते उन्हें लंबा वक्त घर पर बिताने का मौका मिला था। उन्होंने कहा कि इस दौरान किसी को भी यह पता नहीं चला कि मैं प्रेगनेंट हूं।

यह महामारी एक अजीब तरह का वरदान
अनुष्का शर्मा ने कहा, ‘एक तरह से कहें तो कोरोना की यह महामारी एक अजीब तरह का वरदान थी। विराट मेरे पास थे और मैं इसे सीक्रेट रखना चाहती थी। हम सिर्फ डॉक्टर के क्लीनिक जाने के लिए ही बाहर निकलते थे। उस वक्त कोई भी सड़कों पर नहीं होता था। इसलिए हमें कोई भी देख नहीं सकता था।’

स्टूडियो में होती तो हर कोई जान जाता
प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों के बारे में बताते हुए अनुष्का शर्मा ने कहा कि उस दौरान वह बुलबुल के प्रमोशन में बिजी थीं और जूमकॉल के दौरान उन्हें अचानक समस्या हुई। वह खुद को अस्वस्थ और कमजोर महसूस कर रही थीं। अनुष्का शर्मा ने कहा, ‘इसके बाद मैंने तुरंत अपना वीडियो ऑफ कर दिया था और अपने भाई कर्णेश शर्मा को मेसेज किया था। उस वक्त वह भी कॉल पर था। यदि मैं सेट या फिर स्टूडियो में होती तो हर कोई जान जाता।’ अनुष्का शर्मा ने कहा कि वह इन दिनों अपने बच्चे के लिए जेंडर न्यूट्रल नर्सरी तैयार करने में बिजी हैं।


मेरी परवरिश में सभी रंग होंगे
अनुष्का शर्मा ने कहा कि मैं इस बात में यकीन नहीं करती कि लड़के ब्लू ही पहनते हैं और लड़कियां पिंक कलर के कपड़े पहनती हैं। उन्होंने कहा कि मेरी परवरिश में सभी रंग होंगे। अनुष्का शर्मा ने कहा कि मैं और विराट कोहली दोनों ही जानवरों को बहुत पसंद करते हैं। मैं चाहूंगी कि हमारे बच्चे में भी ये गुण हों और वह एक बॉन्डिंग फील करे। ये हमारी जिंदगी का बड़ा हिस्सा हैं और वास्तव में हम मानते हैं कि बच्चे उनसे काफी कुछ सीख सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मध्यप्रदेश : 13 साल की लड़की के साथ रेप कर नाले में फेंका

ऊपर से पत्थर-कांटों से ढका मध्यप्रदेश : मध्य प्रदेश में जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नारी सम्मान के लिए अभियान और महिला अपराध के खिलाफ जागरूकता आगे पढ़ें »

नीति आयोग का नवाचार सूचकांक: कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु शीर्ष तीन में, बिहार सबसे नीचे

नयी दिल्ली: नीति आयोग के दूसरे नवाचार सूचकांक में कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और केरल को शीर्ष पांच राज्यों में स्थान मिला। वहीं, इस सूचकांक आगे पढ़ें »

ऊपर