राम मंदिर पर ऐतिहासिक फैसले के दिन अमिताभ ने मांगी माफी, जानें क्या है मामला

Amitabh Bacchan

मुंबई : दशकों से चले आ रहे राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर उच्चतम न्यायालय ने शनिवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। 9 नवंबर का दिन देश के लिए महत्वपूर्ण है। इस बीच महानायक अमिताभ बच्चन द्वारा माफी मांगने की खबर सामने आई है। ‌अमिताभ ने सोनी चैनल के लोकप्रिय कार्यक्रम के दौरान अपनी गलती पर जनता से ट्वीट कर माफी मांगी है।

विकल्प में लिखा था केवल शिवाजी

सोनी चैनल के कार्यक्रम ‘कौन बनेगा करोड़पति’ (केबीसी) में एक सवाल पूछने के दौरान छत्रपति शिवाजी महाराज को अमिताभ ने केवल शिवाजी कह दिया था। इस पर उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए जनता से माफ करने के लिए कहा है।

उल्लेखनीय है कि छह नवंबर को प्रसारित एपिसोड में प्रतिभागी शहेदा चंद्रन से यह प्रश्‍न किया गया था कि इनमें से कौन सा शासक मुगल बादशाह औरंगजेब के समकालीन है? इस प्रश्न के उत्तर में चार विकल्प प्रस्तुत किए गए थे। विकल्प में महाराणा प्रताप, राणा सांगा, महाराजा रणजीत सिंह और शिवाजी नाम दिए गए थे। इसे लेकर सोशल मीडिया पर एक वर्ग ने नाराजगी जताई थी और और शो को बहिष्कार करने की बात कहने लगे थे। शो पर यह आरोप लगाया गया था कि मराठा योद्धा का अनादर किया गया है। इस अनादर के कारण लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है।

बच्चन ने कहा-अनादर का नहीं था इरादा

इस पर बच्चन ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘अनादर करने का कोई इरादा नहीं था। अगर किसी की भावना आहत हुई तो मैं इसके लिए माफी मांगता हूं।’’ इसके साथ ही उन्होंने इस प्रतियोगिता के निर्माता सिद्धार्थ बसु के ट्वीट को भी रीट्वीट किया।

निर्माता ने ट्वीट किया-हूं क्षमाप्रार्थी

केबीसी के ‌निर्माता बसु ने ट्वीट किया, ‘‘ केबीसी-11 के सवाल में छत्रपति शिवाजी महाराज के अपमान या अनादर की हमारी कोई नियत नहीं थी। इस संस्करण में भी कई सवाल पूछे गए जिनमें उपाधि के साथ उनका नाम लिया गया। मैं विकल्प में बिना उपाधि के नाम लिखने के लिए क्षमा प्रार्थी हूं।’’

इस शो को प्रसारित करने वाले टीवी चैनल सोनी इंटरटेनमेंट ने भी टिकर (पट्टी) चलाकर मामले पर माफी मांगी।

बीजेपी नेता ने दी थी चेतावनी

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता नितेश राणे ने शुक्रवार को केबीसी में छत्रपति शिवाजी के नाम का अनादर करने के लिए शो के निर्माताओं को माफी मांगने के लिए कहा था। उन्होंने कहा, “सोनी केबीसी ने भाषा की दृष्टि से ‘अपमानजनक’ एकवचन में शिवाजी महाराज नाम लेकर उनका अपमान किया है। इसके लिए जल्द से जल्द माफी मांगनी चाहिए।” उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा अगर उन्होंने माफी मांगने में देरी की तो कार्यक्रम को आगे चलने के लिए कोई ‘लाइफ लाइन’ नहीं मिलेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गुरु नानक के नाम पर भवन बनायेगी राज्य सरकार

कोलकाता : सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की कि सिख गुरुओं के पहले गुरु और सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक की 550वीं आगे पढ़ें »

तेज रफ्तार से आ रही स्कूल बस लैंप पोस्ट से टकरायी, 20 घायल

कोलकाता : ड्राइवर द्वारा नियंत्रण खोने से तेज रफ्तार स्कूल बस लैंप पोस्ट से जा टकरायी। घटना चितपुर थानांतर्गत पी.के मुखर्जी रोड व काशीपुर रोड आगे पढ़ें »

ऊपर