विभिन्न संस्कृतियों का मेल है ‘द एक्स्ट्रा ऑडिनरी जर्नी ऑफ द फकीर’ : केन स्कॉट

मुंबई : भारत, फ्रांस और अमेरिका के कलाकारों को साथ लेकर ‘द एक्स्ट्रा ऑडिनरी जर्नी ऑफ द फकीर’ फिल्म बनाने वाले कनाडाई लेखक-निदेशक केन स्कॉट का कहना है कि विभिन्न संस्कृतियों को एक फि

केन स्कॉट

ल्म में साथ लाना बेहद रोमांचक और समृद्ध करने वाला अनुभव रहा। इस फिल्म की शूटिंग भारत, फ्रांस, बेल्जियम और इटली में हुई है।

केन स्कॉट का कहना है कि अलग-अलग कलाकारों और अलग-अलग जगह शूटिंग करने का मकसद फिल्म को वास्तविकता के बेहद करीब रखना था। स्कॉट ने कहा, ‘भारत, मुंबई को जानना, भारतीय संस्कृति को समझना और यह जानना बहुत दिलचस्प अनुभव रहा कि भारतीय अपनी कहानियां कैसे कहते हैं और उनके अभिनेता कैसे काम करते हैं। फिल्म तमाम संस्कृतियों को साथ लेकर आ रही है। मेरे लिए यह सीखने का बहुत बड़ा अवसर था। यह समृद्ध करने वाला अनुभव था।’ इस फिल्म में केन स्कॉट भारतीय अभिनेता धनुष, अर्जेंटीनियन-फ्रांसीसी अभिनेता बेरेनिस बेजो, अमेरिकी अभिनेता एरिन मोरिआर्टी, सोमाली-अमेरिकी अभिनेता बरखाड आब्दी और फ्रांसीसी अभिनेता-निदेशक गेरार्ड जगनॉट के साथ काम कर रहे हैं। स्कॉट का कहना है, मुझे यह सुनिश्चत करना पड़ा कि सब कुछ अपनी जगह पर एकदम फिट बैठे। मुझे अच्छे अभिनेता चाहिए थे। मुझे इन कलाकारों को साथ लाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी। इस फिल्म के साथ ही तमिल- हिंदी सिनेमा के अभिनेता धनुष अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहला कदम बढ़ा रहे हैं। स्कॉट का कहना है, धनुष अच्छे कलाकार हैं और उनकी कॉमेडी बहुत अच्छी है। उनमें वह सभी खूबियां हैं, जो हमें इस किरदार के लिए चाहिए थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

thakre

वीर सावरकर देश के पहले प्रधानमंत्री होते तो नहीं होता पाकिस्तान का जन्म : उद्धव ठाकरे

मुंबई : शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि ‌अगर वीर सावरकर इस देश के प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान का जन्म भी नहीं आगे पढ़ें »

नई कारों को चलाने के शौकीन हैं तो अब यहां मिलेगी लीज पर कार

नई दिल्लीा : भारत में प्रीमियम कारों की अग्रणी विनिर्माता होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड (एचसीआईएल) ने अपनी नई कार लीजिंग सर्विस को लॉन्च करने की आगे पढ़ें »

ऊपर