‘यदि आप एंटी इंडिया हैं तो आपको बहुत समर्थन मिलेगा’ – कंगना

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने आज मुंबई पुलिस के सामने देशद्रोह और अन्य आरोपों को लेकर दर्ज मामले में अपना बयान दर्ज कराया। इसके बाद कंगना भोपाल फिल्म की शूटिंग के लिए रवाना हो गईं।

बताते चलें कि, सीआरपीएफ जवानों की ‘वाई प्लस’ श्रेणी सुरक्षा में कंगना अपनी बहन रंगोली चंदेल के साथ मुंबई के उपनगर स्थित बांद्रा पुलिस थाने दोपहर करीब एक बजे पहुंची थी। कंगना रनौत और रंगोली करीब 2 घंटे थाने में रहीं। सूत्रों के मुताबिक, रंगोली का बयान आज दर्ज नहीं किया जा सका। कंगना को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।

ट्वीटर पर कंगना ने निकाली भड़ास…

इस दिन थाने से निकलने के बाद कंगना ने ट्वीट कर कहा कि अगर आप राष्ट्रवादी हैं तो आपको अकेले ही खड़ा होना पड़ेगा। कंगना रनौत ने ट्वीटर पर लिखा, ”यदि आप एंटी इंडिया हैं तो आपको बहुत सारा समर्थन, काम/पुरस्कार और प्रशंसा मिलेगी। अगर आप राष्ट्रवादी हैं तो आपको अकेले ही खड़ा होना पड़ेगा, आपका अपना समर्थन तंत्र हो सकता है और खुद अपनी ईमानदारी की सराहना करनी होगी। पुलिस स्टेशन में घंटों की पूछताछ के बाद भोपाल के रास्ते में हूं। #Dhaakad”

मुनव्वर अली ने दर्ज कराई थी शिकायत

जानकारी के मुताबिक, बांद्रा पुलिस ने कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल के खिलाफ अक्टूबर में अपनी टिप्पणी के जरिये कथित तौर पर समुदायों में द्वेष पैदा करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की थी। उन्होंने बताया कि यह प्राथमिकी बांद्रा की मजिस्ट्रेट अदालत के आदेश पर दर्ज की गई। अदालत ने पुलिस को निर्देश दिया था कि वह कंगाना रनौत और उनकी बहन के खिलाफ जांच करे। अदालत ने यह आदेश उस शिकायत पर दिया जिसमें आरोप लगाया था कि कंगना और रंगोली सोशल मीडिया पर अपने पोस्ट के जरिये नफरत फैला रही हैं और सांप्रदायिक तनाव पैदा कर रही हैं। कास्टिंग डायरेक्टर और फिटनेस ट्रेनर मुनव्वर अली सयैद ने कंगना और उनकी बहन के ट्वीट एवं बयान का संदर्भ देते हुए शिकायत दर्ज कराई थी।

बंबई हाई कोर्ट ने दिया था उपस्थिति का निर्देश

इससे पहले मुंबई पुलिस ने तीन बार नोटिस जारी कर उन्हें मामले में बयान दर्ज कराने के लिए पुलिस के समक्ष उपस्थित होने को कहा था। बंबई हाई कोर्ट ने पिछले साल नंवबर में कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल को गिरफ्तारी से सुरक्षा देते हुए और आठ जनवरी को पुलिस के समक्ष उपस्थित होने का निर्देश दिया था। बताते चलें कि, कंगना और रंगोली के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा- 153ए (अलग-अलग धार्मिक, जातीय समूहों में द्वेष को बढ़ावा देना), धारा-295 ए (जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को भड़काना), धारा-124 ए (देशद्रोह) और धारा-34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

सियालदह फ्लाईओवर बंद होने से ट्रैफिक डायवर्सन

बहूबाजार व सियालदह इलाके में ट्रैफिक जाम की स्थिति लगी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : ईस्ट वेस्ट मेट्रो के टनेलिंग निर्माण कार्य के लिए सियालदह फ्लाईओवर पर वाहनों आगे पढ़ें »

कोरोना के खिलाफ शुरु हुई जंग, वैक्सीन ने संभाला मोर्चा

राज्य के 207 केंद्रों में लगा कोविड-19 कोविशिल्ड का टीका कोलकाताः राज्य में शनिवार की सुबह कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू हो गया, जिसमें कोविशिल्ड वैक्सीन राज्य आगे पढ़ें »

ऊपर