मैं संयोग से बन गया अभिनेताः आदित्य रॉय कपूर

मुंबईः बॉलीवुड के आशिकी ब्वॉय अभिनेता आदित्य रॉय कपूर चुनिंदा फिल्में ही करते हैं पर उन्ही के माध्यम से वह दर्शकों का दिल जीत जाते हैं। आदित्य का कहना है कि वह संयोग से अभिनेता बने। कलाकारों के परिवार से संबंध रखने के बावजूद वह अभिनेता बनने के इच्छुक नहीं थे।
पहले आना नहीं चाहता था और अब प्यार करने लगा हूं
आदित्य ने कहा मैं जब पीछे मुड़कर देखता हूं, तो सोचता हूं कि मैं संयोग से अभिनेता बना। फिल्मों में आए दस साल पूरे होने के बाद भी मैं यह नहीं कह सकता कि मैं इस पेशे में आना चाहता था, भले ही अब मैं इससे प्यार करने लगा हूं।
वीजे बनकर एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में आए
उन्होंने चैनल ‘वी’ के लिए वीजे के रूप में शुरुआत की और अंतत: 2009 में ‘लंदन ड्रीम्स’ के साथ अभिनेता के रूप में अपनी शुरुआत की। पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने ‘आशिकी-2’, ‘ये जवानी है दीवानी’ और ‘ओके जानू’ जैसी फिल्मों में शानदार अभिनय किया। आदित्य का कहना है कि यह सब संयोग से हुआ। विपुल शाह की फिल्म के लिए 2008 में फिल्म की कास्टिंग की ओर से मुझे बॉलीवुड में प्रवेश करने का मौका दिया, भले ही मैंने कभी ‘एक अभिनेता बनने की इच्छा नहीं जताई।’
काफी उतार चढ़ाव देखे
33 वर्षीय अभिनेता ने अपने करियर में कई उतार-चढ़ाव देखे। कई बार उन्हें तारीफ मिली तो कई बार आलोचना भी हुई। हालांकि इन सबके बावजूद आदित्य का कहना है कि अब वह खुद को स्थापित मानते हैं। आदित्य ने कहा ‘पिछले कुछ वर्षों से मैं फिल्म उद्योग, अपने काम और इस पेशे से प्यार करने लगा हूं। यह उतार-चढ़ाव से भरा सफर था। शुरुआती कुछ वर्षों में यह खुद को तलाशने जैसा था वहां मैंने अभिनय करते समय अभिनय से प्यार करना शुरू कर दिया।’ फिलहाल आदित्य को उनकी हालिया रिलीज फिल्म ‘कलंक’ में अभिनय के लिये तारीफ मिल रही है। इसके बाद उनकी तीन फिल्में भी जल्दी ही रिलीज होने जा रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर