मेरी यही चाह है कि सुशांत की यह फिल्म लोगों तक पहुंचे : मुकेश छाबड़ा

मुकेश छाबड़ा की डेब्यू निर्देशित फिल्म,”दिल बेचारा” दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत की वजह से चर्चा में है। बहुत जल्द यह फिल्म ओ टी टी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो रही है। फॉक्स स्टार स्टूडियोज प्रोडक्शन इस फिल्म को मुफ्त में दर्शकों तक पहुंचा रहा है। यह सुशांत के लिए एक ट्रिब्यूट है।
फिल्म “दिल बेचारा” रिलीज हो रही है कैसा लग रहा है ?
डेब्यू डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा की फिल्म “दिल बेचारा” एवं सुशांत की फिल्म के ट्रेलर रिलीज़ होने पर और डायलॉग रिलीज़ इत्यादि होने पर लोगों ने जो प्यार जतलाया है उसके लिए वह अहोभाग्य मानते हैं। मैं अभी तक यह नहीं समझ पा रहा हूं कि मुझे फिल्म के रिलीज पर खुश होना चाहिए, क्योंकि अभी तक जो कुछ हुआ है, उससे मैं अभी तक उबर नहीं पाया हूं। सब कुछ बदल चुका है इस वक़्त। पर हाँ, लोगों ने जो ढेर सारा प्यार दिया है, उसे देख मैं अभिभूत महसूस कर रहा हूँ। बस, आशा करता हूं इस फिल्म को देखकर सभी को और साथ ही सुशांत को गर्व का एहसास हो। (कुछ यादें ताजा करते हुए आगे मुकेश बोले) सुशांत से मेरी पहली भेंट “काई पो छे ” फिल्म के ऑडिशंस के दौरान हुई थी। मैं वहां राजकुमार राव के साथ ऑडिशंस पर गया हुआ था। वहीं सुशांत भी आये हुए थे।
सुशांत सिंह आपकी पहली पसंद थे ?
सुशांत मेरी पहली पसंद रहे फिल्म “दिल बेचारा ” के लिए। यदि मैं दूसरी कोई और भी फिल्म बनाता, तो भी वही मेरी पहली पसंद होते। उन्होंने मुझे वचन दिया था कि जब भी मैं बतौर निर्देशक अपनी जर्नी शुरू करूं, तो वह मेरी फिल्म का हिस्सा बनना चाहेंगे और उन्होंने अपना वचन निभाया भी। जैसे ही मैंने उन्हें इस किरदार के लिए एप्रोच किया, उन्होंने तुरन्त हामी भर दी।
नयी खोज संजनासांघी को लेने की वजह?
सबसे पहले जब वह केवल 19 वर्ष की थी, मैंने उन्हें ‘रॉकस्टार’ में देखा था। उन्होंने बहन का किरदार निभाया है। उनका चेहरा बहुत ही मासूम और मैजिकल भी है। मुझे एक फ्रेश फेस की जरूरत थी, अतः उन्हें एक छोटे से ऑडिशन के लिया बुलाया और वो इस किरदार में फिट बैठी, लिहाजा उन्हें कास्ट किया।
सुशांत के साथ शूटिंग के दौरान कुछ यादें हम से शेयर करना चाहेंगे आप ?
उनके साथ हमारी ढेर सारी यादें जुड़ी हुई हैं जो आज भी ताजातरीन बनी हुई है मेरे दिल में। हम सभी क्रिकेट खेला करते। सुशांत हमें शाहरुख खान के गानों पर उन्हीं की तरह डांस कर हमारा मनोरंजन किया करते। हम सभी एक साथ एक ही टेबल पर बैठ कर भोजन किया करते। और तो और इमोशनल सीन्स के मेकिंग के दौरान वह भी इन्वॉल्व रहते। बस इमोशनल सीन्स करने के बाद थोड़ा लाइट फील करने हेतु हम लोग कुछ न कुछ गेम्स भी खेला करते।
फिल्म दिल बेचारा ओ टी टी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो रही है जबकि यह फिल्म थिएटर रिलीज के लिये बनाई गई थी। इससे आप कितना संतुष्ट हैं ?
हममें से किसी को यह पैंडेमिक के आने की खबर नहीं थी। अब देखिये, हम नहीं चाहते कि हमारी ऑडियंस थिएटर में ऐसे समय में आये जबकि यह समय बहुत ही असुरक्षित समय है। हमारा मकसद है फिल्म लोगों तक पहुंचे और उन्हें पसंद भी आए और फॉक्स स्टार स्टूडियोज़ प्रोडक्शन ने यह फिल्म फ्री दिखाने का बेहद अच्छा और बोल्ड निर्णय लिया है। बस, मेरी यही चाह है कि लोगों तक सुशांत की यह फिल्म पहुंचे और ऐसे समय पर ओ टी टी प्लेटफॉर्म ही सबसे सेफ है।
क्या भविष्य में अपनी निर्देशित फिल्म में आप भी सुभाष घई की तरह टोपी पहन किसी सीन में नजर आने वाले हैं ?
(हंस कर बोले) इस समय तो ऐसा कुछ आप को देखने नहीं मिलेगा। आगे की आगे देखी जायेगी। बस, अभी इस फिल्म को लेकर- कैसे क्या हो रहा है, वह हम देखते जा रहे हैं। अभी तक कोई चीज सिंक नहीं हुई मेरे दिल में।      लिपिका वर्मा (स्वतंत्र पत्रकार)

शेयर करें

मुख्य समाचार

मौजूदा भारतीय हॉकी टीम में विश्वस्तरीय रक्षापंक्ति और ड्रैग फ्लिकर: रघुनाथ

बेंगलुरू : पूर्व हॉकी खिलाड़ी वीआर रघुनाथ का मानना है कि मौजूदा भारतीय टीम के पास विश्वस्तरीय रक्षापंक्ति और स्तरीय ड्रैग फ्लिकर हैं और टीम आगे पढ़ें »

आईसीसी बोर्ड की बैठक : बीसीसीआई, सीए में होगी टी20 विश्व कप बदलने पर चर्चा

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के प्रमुख अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की शुक्रवार को होने वाली बोर्ड बैठक के आगे पढ़ें »

ऊपर